रोहिणी तक आयेगा पोल्यूशन : रानी खेडा में लोगो का विरोध

दिल्ली में कूड़े के लिए डम्पिंग साईट न मिल पाना बड़ी समस्या पैदा हुई … दिल्ली के पूर्वी छोर का कूड़ा पश्चिमी छोर पर डालने बड़ा विरोध हो गया … कई गाँवों के लोग रानी खेडा गाँव में धरने पर बैठ गये और कूड़े के ट्रको को नही आने देने की बात कह रहे है … जब कई गाँवों की बात आई तो सांसद उदितराज और पूर्व मेयर मास्टर आजाद भी धरने में आये और किसी भी कीमत पर रानी खेडा में डंपिंग साईट न बनने देने की बात कही
AA News
New Delhi
अनुरोध — Youtube पर AA News को Subscribe जरुर करें

video
दिल्ली में डंपिंग साईट को लेकर समस्या बनी हुई है …. गाजीपुर भलस्वा और ओखला तीनो जगह कूड़े का पहाड़ बन गया .. काई साल पहले ही ये ढेर मानको को पार कर चुके है … अब गाजीपुर हादसे के बाद सवाल खड़े हो गये आखिरकार कूड़ा डाले कहा … पूरी पूर्वी दिल्ली में जगह नही मिली न ही उत्तरी दिल्ली में तो बाहरी दिल्ली के रानी खेडा में पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने डंपिंग साईट बनाने की कोशिश की … निगम का कहना है कि दस दिन के लिए अस्थाई रूप से वहां कूड़ा डाला जाना है .. लेकिन आसपास के गाँवों के लोग समझ गये एक बार शुरुआत हुई तो ये सिसिला रुकेगा नही और यहा भी कूड़े का पहाड़ बन जाएगा .. इसलिए कल ग्रामीणों ने निगम के सैकड़ो ट्रको को वापिस भगा दिया और पूरी रात यहा लोकल नेता और स्थानीय लोग टेंट लगाकर बैठे रहे की किसी भी कीमत पर यहा कूड़ा नही डालने देंगे … दिल्ली के पूर्वी छोर का कूड़ा पूरी दिल्ली पार करके पश्चिमी छोर पर आएगा और अधिकतर हवा पश्चिम दिशा से ही चलती है इसलिए यदि यहाँ डम्पिंग साईट बनी तो पूरी दिल्ली में पोल्यूशन आना आम बात है और रोहिणी एक सुंदर शहर माना जाता है पर रोहिणी के बिलकुल बगल में ये डंपिंग साईट बनी तो पूरी रोहिणी के प्रॉपर्टी के भाव गिर जायेगे और कोई रहना पसंद भी नही करेगा इसलिए रोहिणी से लेकर आसपास के दर्जनों गाँव अब यहा इस डंपिंग साईट के खिलाफ खड़े हो गये है और इनका कहना है कि किसी भी कीमत पर यहाँ कूड़ा नही डालने दिया जाएगा .. यहा महिलाये और पुरुष सब बारी बारी से धरने पर बैठ गये है और रखवाली करेंगे की नगर निगम के ट्रक यहा कूड़ा डालने न आ जाए ….
यहाँ के दर्जनों गाँवों का सवाल उठा तो यहाँ के नेताओ का इनके पक्ष आना जरूरी हो गया .. यहाँ से सांसद उदितराज , पूर्व मेयर मास्टर आजाद खुद आकर धरने में शामिल हुए और कहा की किसी भी कीमत पर यहाँ डंपिंग साईट नही बनने दी जायेगी …
तनाव को देखते हुए यहाँ पुलिसबल तैनात कर दिया गया है .. आज नगर निगम के ट्रक यहा कूड़ा लेकर नही आये और अब तीनो निगमों के लिए चुनौती है कि वो कूड़ा कहाँ डाले क्योकि वक्त रहते एसी कोई रिसाकिल की योजना भी तैयार नही की गई जिसका खामियाजा आज पूरे दिल्ली एनसीआर को भुगतना पड़ रहा है .. फिलहाल दिल्ली का कूड़ा आखिरकार कहा डले ये संशय बना हुआ है …
अनिल अत्री दिल्ली ………..

 

Leave a Reply