श्री राम मंदिर को लेकर दिल्ली कालकाजी मंदिर परिसर में सन्त और शिया वक बोर्ड के चेयरमैन ने की सांझा प्रेस कॉन्फ्रेंस

रिपोर्ट : आशुतोष कुमार

आज दिल्ली के कालकाजी मंदिर परिसर में राम जन्म भूमि को लेके प्रेस वार्ता हुई । कई संत आज की इस प्रेस वार्ता में शामिल हुए ।
इस प्रेस वार्ता में शिया वक्फ बोर्ड के चैयरमेन सैयद वसीम रिज़वी भी हुए सामील।
प्राचीन सिद्ध पीठ श्री कालकाजी मंदिर  में आज श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण का प्रमुख केंद्र बना । महंत निवास परिसर में आयोजित प्रेस वार्ता सम्मेलन में मुख्य संयोजक सनातन हिंदू वाहिनी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं प्राचीन सिद्ध पीठ श्री कालकाजी मंदिर के महंत श्री सुरेंद्रनाथ अवधूत जी महाराज अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत श्री नरेंद्र गिरी जी महाराज शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन सैयद वसीम रिजवी अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री महेंद्र हरि गिरि जी निर्वाणी अखाड़ा के अध्यक्ष एवं श्री राम जन्मभूमि मामले के प्रमुख पैरोकार महंत श्री धर्मराज जी महाराज श्री श्री निर्मोही अखाड़ा के महंत श्री राजेंद्र दास जी महाराज दूधेश्वर मठ के अध्यक्ष महंत श्री नारायण गिरी जी महाराज श्रीराम जन्मभूमि मामले में पैरवी कर रहे हैं सेवानिवृत्त जज श्री वीरेंद्र चौबे आदि इस प्रेस वार्ता में उपस्थित हुए ।

वीडियो

वीडियो

 

श्री राम जन्मभूमि के मामले के मुख्य पैरोकार महंत श्री धर्मदास जी महाराज ने कहा कि पांच दिसंबर दो हजार सत्रह से नियमित इस मामले पर माननीय सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी इससे पूर्व हम चाहते हैं कि इस मामले में सभी पक्ष आपस में बैठकर कोर्ट में हलफनामा दें कि अयोध्या में श्री राम जी का भव्य मंदिर निर्माण हो जिसमें अखाड़ा परिषद की पहल पर शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन सैयद वसीम रिजवी ने साफ तौर पर समर्थन किया है कि मंदिर निर्माण अयोध्या में और अमन की मस्जिद का निर्माण लखनऊ में हो जिसमें हमें कोई आपत्ति नहीं है । अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री नरेंद्र गिरी जी महाराज ने स्पष्ट किया कि जो पक्ष आपसी सहमति से मान जाते हैं तो अच्छा है अन्यथा बातचीत और वार्ता के द्वार अभी बंद नहीं हुए हैं शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन सैयद वसीम रिजवी ने कहा उन्होंने अपनी सहमति का हलफनामा माननीय कोर्ट में जमा कर दिया है । महंत श्री धर्मदास जी महाराज ने साफ किया कि अयोध्या में भगवान श्री राम के भव्य मंदिर का निर्माण दलगत राजनीति से ऊपर उठकर अखाड़ा परिषद व पूरे संत समाज के सहयोग से होगा।
अब देखना यह होगा कि अयोध्या में राम मंदिर का सिलसिला कब तक चलता है और आखिरकार कब तक राम मंदिर का निर्माण हो पाता है ।

Leave a Reply