मुखमेलपुर गांव में गाय के गोबर से लकड़ी के बाद कई उत्पाद बनाने शुरू

मुखमेलपुर गांव में गाय के गोबर से लकड़ी के बाद कई उत्पाद बनाने से शुरू

AA News
Mukhmelpur Delhi
Report : Ankit

मुखमेलपुर गांव में विकास भारतीय नाम के शख्स ने गऊ काष्ठ का प्लांट लगाया हुआ है। यहां पर गाय के गोबर से लकड़ियां बनाई जाती है।

इस गऊ काष्ठ की काफी तारीफ हुई थी क्योंकि इससे पेड़ों का कटना कम हो गया।

जहां पेड़ों की लकड़ी की जरूरत पड़ती है वहां गाय के गोबर से बनी लकड़ी का प्रयोग करते हैं।

साथ ही यहां पर अब कई प्रोडक्ट और शुरू किए गए हैं जिनमें केंचुआ खाद के अलावा गाय के गोबर से धूप तैयार की जाती है।

धूप के अलावा यहां पर हवन समिधा के साथ-साथ बीज से पौधे उगाने के लिए छोटे पॉट भी तैयार किए जाते हैं जिनमें बीज से पौधे उगाये जाते है।

पौधे उगाने के लिए प्लास्टिक की थैलियों का प्रयोग किया जाता था उसकी जगह पर यह गाय के गोबर के बने को पॉट होंगे तो पर्यावरण के अनुकूल होंगे पर्यावरण को नुकसान भी नहीं होगा और प्लास्टिक का प्रयोग कम होगा । इससे पौधे को बढ़त भी अच्छी और ज्यादा मिलेगी ।

इस तरह से कई प्रोडक्ट विकास भारतीय ने इस प्लांट में बनाने शुरू किए हैं। आपको बता दें कि इस तरह के प्लांट देश में कई जगह पर चल रहे हैं।

विकास भारतीय ने कहा कि गाय एक ऐसा प्राणी है यदि वह दूध नहीं दे रहा है तो भी आप उसके गोबर और आदि से जो प्रोडक्ट बनेंगे उससे भी आप अपना खर्च निकाल सकते हैं।