गाजीपुर सैनेट्री लैंडफिल साइट को स्थानांतरित करने की जरूरतः महेश गिरी

गाजीपुर सैनेट्री लैंडफिल साइट को स्थानांतरित करने की जरूरतः महेश गिरी
सांसद गिरी ने एलजी व मुख्य सचिव को पत्र लिख कर किया आग्रह
जल्द ही एलजी व मुख्य सचिव से मुलाकात करेंगे सांसद गिरी
जानमाल की सुरक्षा के लिहाज से एसएलएफ स्थानांतर को बताया जरूरी
MP Mahesh Giri's Letter

MP Mahesh Giri’s Letter

 
नई दिल्ली। भाजपा राष्ट्रीय मंत्री व पूर्वी दिल्ली सांसद महेश गिरी ने गाजीपुर सैनेट्री लैंडफिल साइट की बढ़ती ऊंचाई पर चिंता जाहिर की है। सांसद महेश गिरी ने स्थानीय लोगों के जानमाल की सुरक्षा के लिहाज से गाजीपुर एसएलएफ साइट को तुरंत स्थानांतरित कराने के लिये दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल एवं दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश को आग्रह पत्र लिखा है और इसके लिये भूमि उपलब्ध कराने की मांग की है।
सांसद गिरी ने बताया कि कूड़े के पहाड़ में तबदील हो चुकी गाजीपुर सैनेट्री लैंडफिल साइट पर गत वर्ष भूस्लखन होने की वजह से 2 लोगों की जान भी चली गई थी। कई लोग घायल भी हो गये थे। इसलिये स्थानीय लोगों के जानमाल की सुरक्षा के लिहाज से इसके स्थानांतरण के लिये पूर्वी दिल्ली नगर निगम के आयुक्त को भी पत्र लिखकर आग्रह किया गया था। लेकिन आयुक्त ने अवगत कराया कि पूर्वी दिल्ली नगर निगम के पास एसएलएफ स्थानांतरण को भूमि उपलब्ध नही है। दिल्ली विकास प्राधिकरण या फिर दिल्ली सरकार की ओर से भूमि मुहैया कराये जाने के बाद ही गाजीपुर लैंडफिल साइट का स्थानांतरण संभव है।
सांसद महेश गिरी ने बताया कि गाजीपुर एसएलएफ साइट पर हादसे के बाद उप-राज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता में डीडीए, ईडीएससी और नेशनल हाईवे ऑथोरिटी और आईआईटी दिल्ली व अन्य संबंधित एजेंसियों की अहम मीटिंग भी ली गई थी। मीटिंग में एसएलएफ के कूड़े को सड़क निर्माण में प्रयोग करने पर सहमति बनाई गई। इस कार्य में अभी समय लग रहा है। वर्तमान में गाजीपुर लैंडफिल साइट पर लगातार कूड़ा डाला जा रहा है और साइट की ऊंचाई लगातार बढ़ती जा रही है। इसलिए स्थानीय समस्या की गंभीरता को समझते हुये और आम लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुये जल्द से जल्द साइट के स्थानांतरण के लिये जमीन मुहैया कराई जाए। इस संबंध में उप-राज्यपाल अनिल बैजल और दिल्ली के मुख्य सचिव से जल्द ही अलग-अलग मुलाकात करके आग्रह किया जाएगा।

Leave a Reply