हिमाचल के सिखों में फैला रोष, शिरोमणी कमेटी से की अपील

AA News
Bearu Report

जालंधर, 25 सितंबरः साहिब श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित ननकाणा साहिब से आए नगर कीर्तन को हिमाचल प्रदेश में नहीं ले जाने को लेकर हिमाचल के सिखों में रोष है। सरब सांझी गुरमत प्रचार कमेटी के बैनर तले सिख समाज ने मिलकर मीटिंग की और श्रिोमणी कमेटी से अपील की कि हिमाचल के सिखों को यात्रा के दर्शन करवाये जायें।

Solan HP

हिमाचल प्रदेश में हालांकि सिखों की गिनती काफी कम है और वह ज्यादातर फैले हुए हैं पर बावजूद इसके वह सिखी में पूरी तरह से परपख हैं और उनकी गुरु ग्रन्थ साहिब के प्रति श्रृधा और सेवा भावना है। बाकी सिखों की तरह हिमाचल के सिख भी चाहते हैं कि गुरु नानक साहिब के 550वें प्रकाश पुरब पर पाकिस्तान की पवित्र धरती ननकाणा साहिब से आये नगर कीर्तन का स्वागत करें, दर्शन करें। इसके लिए उन्होंने शिरोमणी कमेटी, जत्थेदार श्री अकाल तख्त, नगर कीर्तन के इंचार्ज पी एस पसरीचा से भी अपील की पर नगर कीर्तन को हिमाचल ना लेजाने से वहां के सिखों में रोष है। इसी के चलते सर्व सांझी गुरमत प्रचार कमेटी के बैनर तले सोलन के सपरुन गुरुद्वारा साहिब में एक मीटिंग हुई जिसमंे धर्मपुर, कसौली, कंघनघाट, दक्षई, सहित अन्य कमेटियों के नुमाईंदों ने पहुंचकर एकजुट होकर पुनः शिरोमणी कमेटी से अपील की है कि हिमाचल की संगत को नजरअंदाज ना किया जाये इससे पहले बिदर से आये नगर कीर्तन को भी बिना हिमाचल की संगत को दर्शन करवाये निकाला गया। कमेटी के फाउंडर तरविन्दर सिंह सब्बरवाल ने कहा कि शिरोमणी कमेटी को हिमाचल के सिखों की भावनाओं को समझते हुए पुनः विचार करना चाहिए और अगर सभी जगह नगर कीर्तन लेजाना संभव ना हो सके तो कुछ हिस्से को अवश्य कवर किया जाये बाकी संगत वहीं आकर दर्शन कर सकती है।

सर्व सांझी गुरमत प्रचार कमेटी जो कि हिमाचल के सिखों द्वारा बनाई गई एक ऐसी कमेटी है जो बिना किसी से चंदा एकत्र किये समाज सेवा के अनेक ऐसे कार्य कर रही है जो काबिले तारीफ हैं। कमेटी के उपाध्यक्ष पम्मा सिंह ने कहा हमारी संगत तन मन धन से नगर कीर्तन के स्वागत के लिए तैयार है बस प्रबन्धक हमारी विनती पर गौर फरमाये और नगर कीर्तन को अवश्य हिमाचल में लाया जाये।

Leave a Reply