दिल्ली के युवा व्यवसायी जहान खुराना को माननीय डॉक्ट्रेट की उपाधी

AA News

दिल्ली के उभरते हुए युवा व्यसायी जहान खुराना को व्यावसायिक और सामाजिक क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिये डॉक्ट्रेट की उपाधी से सम्मानित किया गया है। यह सम्मान उन्हें ‘मैजिक बुक ऑफ रेकॉर्ड्स’ की तरफ से प्रदान किया गया है जो विभिन्न क्षेत्र के लोगों को उनके जीवन के अनुभव, योगदान और समाज के प्रति उनके जिम्मेदार कार्यों के लिये दिया जाता है। हाल में ही एक कार्यक्रम के दौरान इस सम्मान से नवाजे गए जहान खुराना ने अवार्ड के लिये 1संस्था को धन्यवाद करते हुए कहा कि ये उन्हें और आगे बढ़ कर सामाजिक और व्यावसायिक क्षेत्र में कार्य करने के लिये प्रेरित करेगी।

एक दर्जन से ज्यादा ऑनलाइन रेस्टोरेंट ब्रांड लॉन्च कर चुकी कंपनी ‘द रोलिंग प्लेट’ के मैनेजिंग डायरेक्टर ऑनलाइन 36 वर्षीय जहान खुराना ने बहुत कम उम्र में ही फ़ूड एंड बेवरेज इंडस्ट्री में अपनी यात्रा शुरू की और आज वह 14 वर्षों से इसमें कार्यरत हैं। जहान ने हमेशा युवाओं को व्यावसायिक क्षेत्र में आने के लिये प्रेरित किया है और इनका मानना है कि आज की पीढ़ी को नौकरी देने वाला बनना चाहिये न कि नौकरी मांगने वाला।

भारत के प्रधानमंत्री मोदी के ‘आत्मनिर्भर भारत’ और ‘स्टार्टअप इंडिया’ से प्रेरित हो कर जहान खुराना अब एक और स्टार्टअप लॉन्च करने की तैयारी में हैं जो न केवल केंद्र सरकार के ‘स्किल इंडिया’ कार्यक्रम को आगे बढ़ाएगी बल्कि ऑनलाइन लर्निंग के क्षेत्र में भी एक नया आयाम लाएगी।

पेशे से व्यवसायी और उद्यमी जहान खुराना एक समाजसेवी के रूप में भी सक्रिय रहे हैं। वह न केवल कुछ गैर सरकारी संस्थाओं के साथ मिल कर निर्धन परिवार के बच्चों की शिक्षा और पोषण के लिये कार्य करते रहते हैं बल्कि उनके बीच कला और प्रदर्शन को बढ़ावा देने के लिये भी कार्यक्रम आयोजित किया है। पर्यावरण के प्रति जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से वर्ष 2019 में जहान खुराना ने अपनी धर्मपत्नी किरण के साथ मिल कर दिल्ली एनसीआर के पार्कों में और सड़क किनारे 5000 पौधे लगाने का एक बड़ा अभियान अपने निजी प्रयास से ही शुरू किया था जो उस समय काफी लोकप्रिय भी हुआ था।

New Delhi

New Delhi

जहान खुराना कहते हैं कि उन्होंने हमेशा समाज के लिये कुछ करने में विश्वास रखा है और इसलिये वह जितना भी कर पाते हैं जरूर करते हैं। पर्यावरण को बेहतर करने में भी वह अपना योगदान देना चाहते हैं और इसके लिये भी प्रयासरत रहते हैं। डॉक्ट्रेट जैसे सम्मान को पाना उनके उत्साह को बढ़ाने का काम करेगा और वह पूरी शक्ति से ज्यादा बेहतर करने का प्रयास करते रहेंगे।