दिल्ली से गायब युवक का शव गाजियाबाद में मिला ।

दिल्ली सुल्तान पूरी इलाके से अपहरण हुए युवक की 4 दिन बाद गजियाबाद में मिली, जिसके बाद पुलिस की कार्यवाही से नाराज़ परिजनों शव रखकर लगाया जाम।
रिपोर्ट : प्रभाकर राणा
लोकेशन :- सुल्तान पूरी, दिल्ली

Rahul Mritak

Rahul Mritak

देश की राजधानी दिल्ली से गायब हुए युवक की हत्या के बाद लोगों ने पुलिस की कार्रवाई से नाराज होकर किया सड़क को जाम। कई घंटों तक बाहरी दिल्ली का मेन कंझावला रोड रहा जाम। मामला दिल्ली के सुल्तानपुरी इलाके का है जहां पिछले तीन चार दिन से मृतक अपने घर के पास से गायब हो गया और युवक का शव दिल्ली से सटे गाजियाबाद में मिला, मृतक के परिजनों का आरोप है यदि पुलिस समय रहते उचित कार्यवाही करती तो आज मृतक जिंदा होता और उसका अपहरण करने वाले पुलिस की गिरफ्त में होते, फिलहाल परिजनों ने दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।
ही तस्वीर है 27 वर्षीय राहुल जी जो कि अब दुनिया में नहीं रहा राहुल अपने परिवार के साथ पारी दिल्ली के सुल्तानपुरी थाना इलाके के कृष्ण विहार इलाके में रहते थे अगर मृतक राहुल के परिवार की माने तो बीती 7 नवंबर से ही राहुल अपने घर के पास अपनी ई रिक्शा के शोरूम से 2 लोगों के साथ निकले थे और जब देर शाम तक वह अपने घर नहीं लौटे और उनका फोन भी बंद जा रहा था गौरतलब है कि परिवार ने बताया कि जब राहुल शाम के समय अपने साथ काम करने वाले एक साथी को फोन पर मैसेज कर बताया कि मैं विजेंदर और शीलू नाम के दो लोगों के साथ आया हुआ हूं और मुझे इन पर कुछ डाउट हो रहा है इसके बाद परिवार ने सुल्तानपुरी थाने में FIR दर्ज कराते समय पुलिस को जानकारी दी और कहा कि हमें सच है कि इन दोनों ने ही राहुल कहां पर हे किया है और उसके साथ कोई अनहोनी भी हो सकती है राहुल कहां पर है किया है और उसके साथ कोई अनहोनी भी हो सकती है।
मृतक राहुल के परिवार का आरोप है कि पुलिस ने कार्रवाई के नाम पर केवल खानापूर्ति की और उन्हें उत्तर प्रदेश के कई जिलों में लेकर घूमती रही जिसके बाद भी राहुल का कोई पता नहीं चला और बीते शुक्रवार को गाजियाबाद पुलिस ने सुल्तानपुरी थाना से संपर्क किया और बताया कि उनके इलाके में राहुल की लाश मिली है जिस पर गोलियों से वार किए गए हैं सूचना मिलने के बाद सुल्तानपुरी पुलिस ने मृतक के परिजनों को सूचित किया और परिवार ने गाजियाबाद से अपने घर ले आये। जाम लगाया और आरोपियों को गिरफ्तार करने के साथ-साथ दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग की है जिसके बाद मौके पर पहुंचे पुलिस के आला अधिकारियों ने सनी लोगों के परिजनों को समझाया तब जाकर जाम खुल सका और यात्र सनी लोगों के परिजनों को समझाया तब जाकर जाम खुल सका।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक राहुल ई रिक्शा बेचने का शोरूम चलाया करते थे और अभी शादीशुदा भी नहीं थे, सूत्रों के अनुसार राहुल की हत्या पैसे के लेनदेन को लेकर की गई है और अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी भी नहीं हो पाई है।
बरहाल फनी लोग और परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर तकरीबन 3 घंटे से ज्यादा सड़क को जाम रखा जिसके बाद पुलिस के आला अधिकारियों के समझाने पर और उचित कार्यवाही का आश्वासन देने पर परिजनों ने सब को सड़क से हटाया।

Leave a Reply