बिना दवाई के भी इलाज मुमकिन है। तो आइये हम आपको बताते हैं, एक इलाज के बारे में

AA News
New Delhi .

आजकल हर इंसान अपनी सेहत से परेशान है, जिसे देखो वो डॉक्टर के पास अपने इलाज के लिए भागता है। लेकिन क्या आपको पता है कि बिना दवाई के भी इलाज मुमकिन है। तो आइये हम आपको बताते हैं, एक इलाज के बारे में जो हमारे सेहत पर बहुत प्रभाव डालता है। एक्यूप्रेशर का नाम तो आपने सुना होगा, लेकिन बहुत कम लोग इसकी थैरेपी के बारे में जानते होंगे। एक्यूप्रेशर एक ऐसा इलाज है जो ड्रग मुक्त माना जाता है। दरअसल इसकी थैरेपी में व्यक्ति के शरीर पर प्रेशर डाला जाता है, जिसके बाद कुछ क्रियाएं होती हैं, जो आपके रोग से लड़ती हैं, और आपको बहुत हल्का महसूस कराती हैं। इसी को लेकर दिल्ली में मिशन एडमिशन और “वी.ए.टी.टी.सी” परिवार की तरफ से एक प्रोग्राम का आयोजन किया गया।  इस कार्यक्रम में डॉ राकेश शर्मा, डॉक्टर भारत भूषण शर्मा और डॉक्टर जी. मनी वाचकम ने मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत की।

New Delhi

New Delhi

इस प्रोग्राम में लोगों तक ये जानकारी पहुंचाई गई, कि किस तरह वो बिना दवाई लिए गंभीर बीमारियों से भी लड़ सकते हैं। इस कार्यक्रम को आयोजित कराने में डॉक्टर शाईस्ता अय्यूब खान और विरेंदर राठी ने अहम भूमिका निभाई। मिशन एडमिशन एवं “वी.ए.टी.टी.सी” एक्यूप्रेशर परिवार इससे पहले भी कई कार्यक्रमों को आयोजित करता रहा है, और लोगों को उनके स्वास्थ्य के प्रति जागरुक करता रहा है।

जिस तरह से ये परिवार लोगों के हित में काम कर रहा है, वो वाकई में काबिले तारीफ है। डॉक्टर राकेश शर्मा ने बताया कि लोगों के लिए स्वास्थ्य एक बड़ा मुद्दा है, और जिस तरह से भारत में तरह-तरह की बीमारियां अपने पैर पसार रही हैं, तो इसके लिए नागरिकों को जागरूक होना बेहद जरूरी है। वहीं उन्होंने बताया की एक्यूप्रेशर से सबसे पहले आपकी त्वचा पर बदलाव आता है। एक्यूप्रेशर एक ऐसा आसानदायक इलाज है जो घर बैठकर भी मुनकिन है, जरुरत है तो सिर्फ और सिर्फ अपने प्वाइंट्स के बारे में जानने की। इसका इलाज करने वाले को ये पता होना चाहिए कि किस बीमारी के लिए कौन से प्वाइंट्स पर प्रेशर डालना अनिवार्य है। मिशन क्रिएशन एक ऐसा ऑरगेनाइजेशन है, जिसका मोटो देश को ड्रग फ्री बनाना है। जिसके लिए एक्यू प्रेशर ही एक ऐसा इलाज है, जो कि बिना किसी दवाई की मदद लिए इंसान का इलाज करता है, और बेहद ही प्रभावशाली भी है।
अगर समय रहते हम लोगों को जागरुक करने में कामयाब रहे तो इंसान अपने आप को प्राकृतिक उपचार पद्धति से एक बेहतर जीवन दे सकता है। जो हमारा देश जल्द ड्रग फ्री बन सकता है।

Leave a Reply