रोहिणी में सात साल की बच्ची ने बचाया DDA का पार्क

वीडियो देखें उपर ये

 

रोहिणी में सात साल की बच्ची ने बचाया DDA का पार्क

रोहिणी में 7 साल की नव्या ने आखिर अपने घर के पास के 30 साल पुराने डीडीए पार्क को बचा ही लिया — हाई कोर्ट की फटकार के बाद डीडीए ने कोर्ट में जबाब दिया ही की वह अब उस पार्क में कम्युनिटी सेंटर नहीं बनाएगा –इस फैसले के बाद इलाके में स्थानीय विधायक विजेंद्र गुप्ता को धन्यवाद देते होर्डिंग लग रहे है तो वहीँ स्थानीय RWA इसका श्रेय केवल नव्या को दे रही है ।

 

7 साल की बच्ची नव्या -जज अंकल और आंटी को धन्यवाद दे रही है की उन्होंने इस डीडीए पार्क को बचा लया जिसमें नव्या और उसके फ्रेंड्स खेलते थे। डीडीए इस पार्क में कम्युनिटी सेंटर बनाने की जिद पर अड़ा था। इलाके के RWA ने काफी कोशिस की की इस पार्क को बर्बाद कर यहाँ कम्युनिटी सेंटर न बने। पार्क में धरने प्रदर्शन किये , हंगमा किया —— इलाके के विधायक और डीडीए के सदस्य विधायक विजेंद्र गुप्ता से भी गुहार लगाई — लेकिन कोई असर नहीं हुआ — इन सबको देखते हुए नव्या ने हाई कोर्ट में जनहित याचिका लगाई — नव्या के पिताजी एडवोकेट धीरज ने बताया कि कोर्ट ने भी इस  शीघ्र और सख्त संज्ञान लिया तो डीडीए को अपने कदम वापस खींचने पड़े और कोर्ट में लिखित जबाब दिया की अब वह रोहिणी के सेक्टर 8 के इस हनुमान पार्क में कम्युनिटी सेंटर नहीं बनेगा।
एडवोकेट धीरज कहते हैं ग्रीन लैंड को चुना डीडीए की गलती है –यहाँ पहले डीडीए की जमीन पर कम्युनिटी सेंटर बना है । वोटर की आबादी के हिसाब से भी यहाँ कम्युनिटी सेंटर नहीं बन सकता-इस पर बच्चे के खेलने की जगह पर यह बन रहा है —मैंने यह नव्या की तरफ से कोर्ट में केस फाइल किया।
इलाके की RWA इस जीत का श्रेय बेशक नव्या और उसके पिता को दे रहे है लेकिन इलाके में विधायक विजेंद्र गुप्ता को धन्यवाद देते होर्डिंग भी बड़ी तादाद में लगे है — इस जीत का श्रेय विजेंद्र गुप्ता को देने और लेने वाले इस प्रयाश पर स्थानीय RWA हैरानी जता रही है –इसे विधायक की हताशा बता रही है –RWA का कहना है की विधायक इस कम्युनिटी सेंटर बनवाने के लिए इतना जोर क्यों लगा रहे थे समझ से परे है — RWA ने विधायक और संबधित विभाग साफ़ और सख्त लहज़े में कह दिया कि उनके आस पास जरूरत के अनुसार कम्युनिटी सेंटर है लिहाज़ा यह कम्युनिटी सेंटर नहीं चाहिए–यह जीत यहाँ की जनता की जीत है –नव्या की जीत है –हालाकि स्थानीय विधायक अब भी दावा  कर रहे है की डीडीए ने उनके प्रयाश के बाद सेक्टर 8 के इस पार्क में कम्युनिटी हॉल बनाने का फैसला वापस लिया है।

DDA Park Rohini

DDA Park Rohini

DDA Park Rohini

DDA Park Rohini

डीडीए के एक गलत फैसले ने इस पार्क को तहस नहस कर दिया –पार्क में खुदाई हुयी है और जगह जगह कूड़े के ढेर लगे है –पार्क में बिखरे प्लाटिक की गिलास और कचरा बता रहा है की यहाँ शाम होते है शराबियों का जमावड़ा लग जाता है –कोर्ट ने डीडीए को आदेश दिया है वह 4 हफ्ते में इस पार्क को फिर से डेवलप कर दे –नव्या कोर्ट के इस फैसले से बेहद खुश है और इलाके के लोग भी नव्या को एक नजीर बता रहे है –साथ ही नेताओं को भी एक नसीहत दे रहे है की जनभावनाओं और नियमों का ख्याल रखे ताकि ऐसे शर्मिंदगी का सामने न करना पड़े । स्थानीय लोगो को कम्युनिटी सेंटर से कोई नाराजगी नही बल्कि उनके काम आएगा पर पहले ही दिल्ली में पार्क कम रह गए बच्चों को बाहर खेलने की जगह नही सिर्फ आपत्ति हरे भरे पार्क को तोड़कर उसमे हाल बनाने पर थी ।

Leave a Reply