1980 के दशक में काली सूची में डाले गए सिखों को अब जाकर मिली इस सूची से मुक्ति

AA News
Delhi
Report : Anil Kumar

1980 के दशक में काली सूची में डाले गए सिखों को इस सूची से बाहर करने पर दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने केंद्र सरकार और भारत के गृह मंत्री का शुक्रिया किया। दिल्ली सिख गुरुद्वारा कमेटी की प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि हम देश की सरकार का धन्यवाद करते है, हम प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और प्रकाश सिंह बादल और सुखबीर सिंह बादल का शुक्रिया करते है, जब भी इस मामले की सुनवाई हुई तब तब नाम काम होते चले गए।

Rakabganj Gurudwara

Rakabganj Gurudwara Delhi


काली सूची एक बेइंसाफी है सिखों के साथ। 1980 के दशक से यह शुरू हुई, जब यहां हालात खराब हुये तो विदेशों में बैठे हमारे सिखों ने आवाज़ उठाई तो उस वक़्त की काँग्रेस की सरकार ने उन्हें काली सूची में डाल दिया। हम आज उन लोगों का शुक्रिया करते है जिन्होंने हमारी लड़ाई लड़ी।

पंजाब मुख्यमंत्री से यह हम अपील करते है कि जब वो लोग वापस आये तो उन्हें फिर पंजाब पुलिस ना तंग करे ,वो अपने घर आये, दरबार साहिब आये तो उन्हें किसी किस्म की कोई परेशानी राज्य सरकार द्वारा ना किया जाये हमारी यह चिंता इसलिए भी है क्योंकि जब यह काली सूची बनाई गई तब भी वहां काँग्रेस का राज था ,पंजाब CM हमे यह आश्वस्त करे कि उन लोगो के साथ कोई जबरदस्ती न हो ।

Leave a Reply