तिमारपुर विधानसभा में AAP Govt. पर आरोप

AA News
Wajirabad New Delhi

दिल्ली की तिमारपुर विधानसभा में 52 करोड़ की लागत के प्रोजेक्ट में भ्रष्टाचार के आरोप आम आदमी पार्टी की सरकार पर कांग्रेस की निगम पार्षद अमर लता सांगवान एवं उनके पति कांग्रेसी नेता कप्तान सिंह सांगवान ने लगाये। कप्तान सिंह सांगवान ने कहा कि तिमारपुर विधानसभा के वजीराबाद एरिया में करीब 52 करोड़ रुपए की लागत से सीवरेज का काम किया जा रहा है लेकिन उसमें काफी बड़ा भ्रष्टाचार है। इन सीवरेज में नालियों का पानी और घर के बाथरूम और रसोई में यूज होने वाला पानी नहीं जाएगा । उसके लिए नालिया अलग रहेगी कप्तान सिंह का आरोप है कि जब नालियां अलग से रहेगी ऐसे सिस्टम ऐसे सीवरेज की फिर जरूरत ही क्या है ? उसमें पांच से 4 करोड रुपए की लागत बढ़ाकर ऐसा काम किया जाए जिसमें नालियों की जरूरत ना रहे सारा काम सीवरेज से हो पूरा हो। आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार करोड़ों रुपए अनऑथराइज्ड कॉलोनीयो में इस तरह के सीवरेज सिस्टम पर खराब कर रही है। इस सीवरेज सिस्टम में टॉयलेट के टैंक का ओवरफ्लो पानी ही जाएगा नालियों का पानी नहीं जाने के कारण गलियों में वही टूटी नालियां, कीचड़ और समस्या ज्यो की त्यों रहेगी।

Kaptan Singh Congress Leader

Kaptan Singh Congress Leader and Amarlata Sangwan

आरोप है कि कहीं ना कहीं अपनी हिस्सेदारी तय करके इस प्रोजेक्ट पर काम करने वाली कंपनी के साथ मिलकर आम आदमी पार्टी की सरकार बड़े भ्रष्टाचार को अंजाम दे रही है। कप्तान सिंह ने आरोप लगाया कि यदि यही काम करना था तो साढ़े चार साल से ज्यादा का वक्त बीत गया अब तक क्यों नहीं किया। अब अंतिम 4 से 5 महीने में जल्दबाजी में सड़कों को तोड़ा जा रहा है। गलियों को तोड़ा जा रहा है साथ ही आरोप लगाया कि दिल्ली जल बोर्ड नगर निगम में रोड कटिंग का पैसा पिछले 4 साल में इस प्रोजेक्ट का जमा नहीं करवा रहा। बार-बार कहने के बावजूद भी रोड तो दिल्ली जल बोर्ड द्वारा तोड़ दिए गए लेकिन उस रोड को कौन बनाएगा या उसका पैसा निगम में कौन जमा करवाएगा काफी संख्या में नोटिस देने के बावजूद भी इसका जवाब दिल्ली सरकार के जल बोर्ड ने नहीं दिया है ।

कप्तान सिंह ने कहा कि कहीं न कहीं काफी बड़ा भ्रष्टाचार है जिसको दिल्ली सरकार अंजाम दे रही है और इसकी जांच की मांग की साथ ही कहा कि यह सीवरेज सिस्टम का तरीका भी बिल्कुल गलत है क्योंकि सीवरेज सिस्टम का पानी कोरोनेशन पार्क के पास बन रहे ट्रीटमेंट प्लांट में जाना है क्योंकि सीवर का गंदा पानी यमुना में नहीं डाल सकते इसलिए इस पानी को बुराड़ी ग्राउंड के पास कोरोनेशन पार्क में बने ट्रीटमेंट प्लांट में ले जाना होगा । उसे ले जाने में कई साल और लग जाएंगे इसलिए यह प्रोजेक्ट जनता के साथ छलावा है । अब देखने वाली बात होगी कि ईमानदारी का दावा करने वाली सरकार इसका हिसाब जनता को देगी या नही ।

Leave a Reply