दिल्ली में राशन डिपोधारक जाएंगे हड़ताल पर। आधार कार्ड से फिंगर प्रिंट्स वेरिफाई होकर मिलेगा राशन


वीडियो देखें ये
ऊपर इस वीडियो में देखें डिपो धारको ने क्या कहा और विधायक साहब ने क्या बताया और कितनी भीड़ थी ।

AA News
रिपोर्ट : अनिल अत्री व नसीम अहमद ।

आज पूरी दिल्ली में सरकारी राशन की दुकानें बंद रही। पूरी दिल्ली के सरकारी राशन डिपो चलाने वाले दुकानदार रोहिणी सेक्टर 13 के एमसीडी कम्युनिटी ग्राउंड में इक्क्ठा हुए दिल्ली में करीब 2300 ( तेईस सो ) राशन की सरकारी दुकान है । आज सभी ने एक साथ सामूहिक अवकाश किया जिसकी सूचना इन लोगों ने खाद्य एवं संबंधित विभाग के आयुक्त को पहले ही दे दी थी। सभी दुकानदार आज दुकानें बंद करके यहां इककट्ठा हुए हैं और एक सामूहिक मीटिंग की है । अपनी मांगों को दोहराया है। यदि इनकी मांगे नहीं मानी गई तो 31 जनवरी तक ही सरकारी राशन बाटेंगे फरवरी में सरकारी राशन की सभी दुकाने बंद कर यह हड़ताल पर आ जाएंगे ।

दरअसल सरकार नई आधार कार्ड के माध्यम से राशन देने लिए मशीनी सिस्टम लाने जा रही है । आधार कार्ड के माषयम से फिंगर प्रिंट्स एक्सेप्ट होने के द्वारा ही जब राशन वितरित होगा जिसमें राशन लेने वाले उपभोक्ता का आधार के साथ फिंगरप्रिंट्स भी आएगा तो किसी भी तरह की धांधली नहीं हो पाएगी और इन लोगों का कहना है वह इन मशीनों का विरोध नहीं कर रहे बल्कि पक्ष में है । डबल ए न्यूज़ को इन्होंने बताया कि ये भी इमानदारी से काम करना चाहते हैं लेकिन सरकार की तरफ से जो सुविधाएं दी गई है जो कमीशन दिया गया है वह इतना कम है कि इन सरकारी होल्डर्स किया खर्च पूरा भी नहीं हो पाता । इनका कहना है कि 70 पैसे प्रति किलो इन्हें जो कमीशन मिलता है उसमें इन्हें बिजली का खर्च भी जगह का किराया भी और मजदूर जो साथ में रखना पड़ता है नापतोल के लिए उसका खर्च भी सब इन दुकानदारों को उठाना पड़ता है। इस कारण इमानदारी से अपना रोजगार चलाने में काफी दिक्कत होती है इसी बात की मांग लिए सरकार से कर रहे हैं और करीब दो हजार की संख्या में आज राशन डीलर यहां पर इकट्ठा हुए हैं।

इनका कहना है की दिल्ली की सभी करीब तेईस सौ दुकाने बन्द हैं । दिल्ली में कुछ लोग रास्ते में कुछ जरूरी काम से नहीं पहुंच सके लेकिन करीब 2000 ( दो हजार ) राशन डीलर यहां इकट्ठा हुए हैं और एसोसिएशन की तरफ से इसका आयोजन किया गया है । “दिल्ली सरकारी राशन डीलर संघ” के द्वारा आज मीटिंग का आयोजन किया गया था जिसमें इन लोगों के बीच में अपनी बात रखने के लिए सरकार की तरफ से पक्ष रखने के लिए दिल्ली सरकार के विधायक राजेश गुप्ता भी आए । विधायक राजेश गुप्ता ने AA न्यूज़ के माध्यम से आश्वासन दिया है और कहा है कि अगले 4 से 5 दिन में इन सभी समस्याओं का समाधान कर लिया जाएगा राशन डीलर्स की हड़ताल से पहले इन की समस्याओं का निवारण हो जाएगा । कोशिश रहेगी कि किसी भी तरह की राशन के इस मुद्दे पर हड़ताल न हो ।

Rohini meeting

Rohini meeting

राशन डीलरस की मांगे हैं इनका कहना है कि इनका मासिक खर्च राशन दुकान का मासिक कार्ड जिसमें स्टेशनरी , बिजली , हेल्पर की सैलरी और दुकान का मासिक किराया दिल्ली का राजस्व विभाग या एमसीडी वार्ड की लोकेशन के हिसाब से सरकार तय करें । परिवार के भरण पोषण हेतु कमीशन बढ़ाएं या फिर मोहल्ला क्लीनिक की तरफ पर मोहल्ला राशन डिपो खोल कर राशन डीलर को पीडीएस स्टेट एंप्लोई घोषित करें। दूसरे इन लोगों की मांग है कि दिल्ली में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कार्ड के अलावा अन्य जरूरतमंद परिवारों को राज्य खाद्य सुरक्षा के तहत एपीएल मूल्य पर राशन उपलब्ध कराये । साथ ही राशन की दुकानों के लाइसेंस का नवीनीकरण हेतु राशन डीलर के कार्य करने की अधिकतम उम्र सीमा 60 वर्ष की पाबंदी को सरकार खत्म करें और इन दुकानों के लाइसेंस ऑनलाइन ही रिन्यू किये जाए । दिल्ली में राशन डीलर द्वारा राशन वितरण के उपरांत होने वाली कमी को पहले की भांति सरकार मान्य करें । दिल्ली राज्य नागरिक आपूर्ति निगम लिमिटेड द्वारा राशन दुकानों पर पूरी मात्रा में सही गुणवत्ता का गेहूं और चावल और चीनी के सैंपल सरकार सुनिश्चित करें ।

Rohini meeting

Rohini meeting

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग दिल्ली आयोग के निर्देशानुसार दिल्ली के राशन डीलर द्वारा बैंक ऑफ बड़ौदा में खुलवाए गए सभी चालू खातों को बंद करने के तुरंत आदेश करे सरकार । दिल्ली में कमीशन बेस पर कार्यरत राशन डीलर के मासिक कोटे की मात्रा को एक समान सरकार करें । साथ ही इनकी मांग है कि दिल्ली के राशन डीलर का 1 वर्ष अवधि का बकाया भुगतान शीघ्र अति शीघ्र किया जाए ।

इन सभी मांगों को लेकर आज इन सभी लोगों की सहमति बनी है और यदि जनवरी के महीने में जल्दी कोई समाधान नहीं हुआ तो फरवरी में राशन ये दुकानदार नहीं बांट पाएंगे । फरवरी का बंटने वाला राशन यह जनवरी में ही नहीं उठाएंगे जिससे सरकारी राशन की दुकान से राशन लेकर अपना पेट भरने वाले गरीब लोगों को काफ़ी बड़ी दिक्कत का सामना दिल्ली में करना पड़ सकता है । जरूरत सरकार इन की समस्या की तरफ भी ध्यान दें ईन्होंने फिर से साफ किया है कि जो मशीनी सिस्टम अपनाया जा रहा है उसका ये विरोध नहीं करते मशीन के जरिए राशन बांटना एक ईमानदारी की पहल उसका ये स्वागत करते हैं लेकिन मशीन शुरू होने के साथ इनके कमिशन में भी बढ़ोतरी की जाए जिससे सांफ़ है कहीं ना कहीं मशीन आने से इन दुकानदारों को नुकसान होता है जो कमीशन बिल्कुल कम है उस पर भी है अभी तक काम कर रहे थे कहीं ना कहीं नहीं हो सकता है दूसरे रास्ते अपनाने पड़ते हो जिस तरह के आरोप इन लोगों पर लगते हैं। मशीन आने के बाद और रास्ते ये नहीं अपना पाएंगे इस कारण इस कारण इन लोगों की मांग है कि मशीन सिस्टम लागू होने से पहले इनके कमिशन में बढ़ोतरी की जाए।

दरअसल आप दिल्ली में आधार कार्ड से लिंक होकर ही राशन वितरित किया जाएगा कार्ड धारक अपना अंगूठा लगाएगा मशीन पर उसके बाद उसको राशन मिलेगा इन लोगों का कहना है कि आधार से जोड़ने वाली प्रणाली का ये विरोध नहीं करते । लेकिन इनका कमीशन नहीं बढ़ाया गया तो आगामी 5 जनवरी को ये फरवरी के राशन के लिए एडवांस पेमेंट करनी होती है वह पेमेंट दिल्ली का कोई भी राशन डिपो धारक नहीं करेगा यदि 5 जनवरी को यह पेमेंट नहीं हुई जनवरी के निश्चित अवधि में यदि किसी तरह का सुलहनामा नहीं हुआ पेमेंट जमा नहीं की गई तो इनको फरवरी का राशन नहीं मिलेगा और फरवरी में राशन के डिपो पर सब्सिडी का राशन गरीब लोगों को नहीं मिल पाएगा।
दिल्ली की छोटी छोटी खबरों के लिए आप youtube पर भी AA News को Subscribe जरूर करें और www.aanews.in इस पोर्टल पर विजिट जरूर करें

Leave a Reply