दिल्ली : बारिस के पानी मे डूबकर बच्चे की मौत

AA News

Kirari Delhi

रिपोर्ट : अनिल वर्मा

 

दिल्ली के किराड़ी में खाली ग्राउंड में जमा बारिश के पानी में डूबने से एक 14 साल के बच्चे की मौत। कल से यह बच्चा गायब था। बच्चे का शव आज मंगलवार सुबह कॉलोनी के पास में सरकारी जमीन में इकट्ठा हुए पानी में तैरता हुआ मिला।

Video

Video

 

किराड़ी का रहने वाला पन्द्रह साल का इमामुद्दीन कल सुबह घर से निकला था। बच्चे का दिन भर कोई पता नहीं चला । पूरा परिवार देर शाम तक बच्चे को तलाशता रहा पर बच्चा नही मिला। दिल्ली के किराड़ी का यह परिवार आखिरकार पुलिस के पास पहुंचा और बच्चे की गुमशुदगी भी लिखवाई। रात 12:00 बजे तक बच्चे के परिजन पूरी किराड़ी विधानसभा में हर जगह लाउडस्पीकर से प्रचार कर के बच्चे को तलाशते रहे लेकिन बच्चा नहीं मिला। बच्चे का पिता रात भर सो नहीं पाया सुबह जैसे ही हल्का उजाला हुआ तो फिर वह बच्चे की तलाश में निकल पड़े। कॉलोनी के पास ही कई एकड़ में सरकारी जमीन खाली पड़ी हुई है जिसमें तालाब से भी ज्यादा पानी इक्कट्ठा होता है। यहां पानी की सही निकासी नहीं है पानी नालों में न जाकर पुरे एरिया का पानी यहां खाली ग्राउंड में कट्ठा होता है जो खतरनाक तरीके से तालाब से भी गहरा भर जाता है । बच्चे के पिता जी को यहां बच्चे का शव सुबह इसी में तैरते हुए मिला।

Kirari Delhi

 

स्थानीय लोगों का कहना है कि इस जलभराव के कारण बीमारियां और इस तरह के खतरे आम बात है इसलिए वह हर साल इसकी शिकायत करते हैं जब यहां लोगों को क्रिकेट खेलना होता है तो जैसे तैसे पंपों के माध्यम से यह पानी खाली करके उसे क्रिकेट खेलने लायक बना लिया जाता है लेकिन मानसून के मौसम में सरकार लोगों की सेफ्टी को देखते हुए इसका पानी नहीं निकालती और हादसा हो जाता है।

 

 

Kirari Delhi

इमामुद्दीन के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और अब इस मामले की पुलिस जांच कर रही है कि यह जमीन सरकार के किस विभाग के पास है और क्यों खाली छोड़ी गई है। उस जांच के बाद ही किसी संबंधित विभाग के खिलाफ मामला दर्ज हो सकता है अभी किसी विभाग के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया गया है। फिलहाल अभी भी यह पानी ऐसे ही भरा हुआ है और यहां के लोगों के लिए बड़ा खतरा बना हुआ है। सरकार मानसून में जलभराव न होने देने के बड़े-बड़े वायदे करती है लेकिन यहां तो सरकारी वायदे खोखले निकले और एक बच्चे की जान ले ली।

Leave a Reply