हनी ट्रेप में फँसाते थे लोगो को

AA News
नई दिल्ली।

दिल्ली के रोहिणी इलाके में हनी ट्रैप का मामला आया सामने। इलाके के नामी बिल्डर्स और दूसरे लोगों को हनी ट्रैप में फंसाकर करते थे लाखों की उगाही। मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को किया गिरफ्तार। दूसरी कई लड़कियां और दूसरे आरोपियों की तलाश जारी। रोहिणी में एक बिल्डर को फ्लैट दिखाने के बहाने नशीले पदार्थ पिलाकर बेहोशी की हालत में लड़की के साथ नग्न अवस्था में वीडियो बनाकर कि सत्रह लाख की उगाही। इस मामले में अब और भी कई पीड़ित आ रहे हैं सामने। आज दोनों आरोपियों को रोहिणी कोर्ट में पेश किया जहां से एक को ज्यूडिशियल कसटीडी तो दूसरे को पुलिस कसटीडी मिली भेज दिया गया

ये दोनों आरोपी है ललित कुमार और गौरव तयगी। इन दोनों को दिल्ली पुलिस की स्पेशल स्टाफ रोहिणी कोर्ट में लेकर आई है। दरअसल इनका काम था भोले भाले लोगों को अनजान फ्लैट में ले जाकर उनको कोई नशीला पदार्थ खिलाकर उनके साथ कुछ लड़कियों के वीडियो बनाकर बाद में लड़की रोने का नाटक करती और पीड़ित शख्स को रेप के मामले में फंसाने की धमकी देने लगती और पुलिस को कॉल करने की धमकियां मिलने लगती। डर के मारे पीड़ित इनको मोटी रकम देकर अपनी जान छुड़वा लेते रोहिणी के एक नामी बिल्डर को उन्होंने इसी तरह से अपने फ्लैट में कुछ काम करवाने के बहाने फ़ैलेट दिखाने के लिए बुलाया बिल्डर अपनी गाड़ी लेकर इनके साथ फ़ैलेट्स पर पहुंचा। यहां इन्होंने चाय या कोल्डड्रिंक की पेशकश की तो इस बिल्डर ने चाय की जगह कोल्डड्रिंक को ही स्वीकृति दे दी। जैसे ही इस बिल्डर ने कोल्ड्रिंग पी तो ये बेहोश होने लगे 10 से 15 मिनट बाद बिल्डर को होश आया तो देखा कि वह नग्न हालत में थे। उनके शरीर पर कोई कपड़ा नहीं था साथ ही पास में एक लड़की रो रही थी और इसके मां-बाप भी साथ में थे उनका कहना था कि इस लड़की के साथ आपने गलत काम किया है जिसका हमने वीडियो भी बना लिया है और अब इस लड़की से कौन शादी करेगा। यही उसके मां-बाप कह रहे थे इस एवज में इन्होंने लड़की को उसकी शादी का खर्च देने के लिए बोला। अपने को इन के चंगुल में फंसा देखकर बिल्डर ने पचास हजार अपनी जेब से और छे लाख नीचे गाड़ी से लाने को बोला। साढ़े छे लाख रूपय का इंतजाम हो गया था इसके बाद इन लोगों ने इनसे दस लाख रुपए और मंगवाने को बोला। इसके फोन छीन लिए गए थे बिल्डर जो भी फोन कर रहा था उस पर हैंड फ्री करवा कर बात की जा रही थी। बिल्डर ने अपनी पत्नी को फोन मिलाएं और खुद को कहीं पर फंसा होने की बात कहकर दस लाख रुपए मंगवाए। तब जाकर ये बिल्डर छुड़ पाए ।

पीड़ित बिल्डर ने सब कहानी अपने साथियों को बताई तो इनको पुलिस से सब बताने को बोला गया । इसके बाद पीड़ित बिल्डर ने इसकी शिकायत लोकल पुलिस को की थी लेकिन पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया इसके बाद पीड़ित बिल्डर पुलिस के आला अधिकारियों से मिले। आला अधिकारियों ने इसकी जांच स्पेशल स्टाफ को सौंप दी स्पेशल स्टाफ ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए गिरोह के मास्टरमाइंड ललित कुमार और दूसरे गौरव त्यागी को गिरफ्तार कर लिया है साथ में जो लड़कियां उनके साथ मिलकर इस गिरोह को अंजाम दे रही थी उनकी पहचान हो चुकी है जिनकी गिरफ्तारी अभी बाकी है।

Rohini Court

Rohini Court


पुलिस सूत्रों की मानें तो इस मामले में इन लोगों ने कबूल किया है कि 14 से 15 लोगों को इस तरह से हनी ट्रैप में फंसाकर लाखों की उगाही को अंजाम दिया है। पुलिस अभी 14 से 15 लोगों को भी तलास रही है और जान रही है देखने वाली बात होगी कि कौन-कौन लोग इस मामले में अपनी शिकायत दर्ज करवाते हैं। मतलब इस मामले में आशंका है कि इस गिरोह ने काफी लोगों को अपना शिकार बनाया है। साथ में कुछ लड़कियां और महिलाएं भी इस ग्रुप में शामिल होती थी जिनकी अभी तलाश जारी है। फिलहाल इन दोनों को आज रोहिणी कोर्ट में पेश किया गया लेकिन जरूरत है इंसान को अपने बिजनेस में भी बहुत सावधानी से कदम उठाये पता नहीं इस तरह के जाल साज उसे फसा दे । महिलाओं की सुरक्षा के लिए बनाए गए कानूनों का इस तरह के लोग नाजायज फायदा उठा कर पूरे समाज को कलंकित करते हैं।

Leave a Reply