ए.सी.एम.ई इंडिया ने गुरुद्वारा बंगला साहिब में ए आई शील्डस की कोटिंग शुरु की।

AA NEWS

DELHI

REPORT – TEAM AA NEWS

ए.सी.एम.ई इंडिया द्वारा आज गुरुद्वारा बंगला साहिब में कोरोना वायरस से बचाव के लिए ए.आई शील्ड नाम के उत्पाद की कोटिंग शुरु कर दी गई। यह सेवा मुफ्त की जा रही है।

 

Gurudwara Bangla sahib

Gurudwara Bangla sahib

इस मौके पर कमेटी के महासचिव स. हरमीत सिंह कालका ने बताया कि ए.सी.एम.ई के प्रतिनिधि आज गुरुद्वारा बंगला साहिब कांपलैक्स में पहुँचे हैं जिनकी निगरानी में कोटिंग शुरु हुई है। उन्हांने बताया कि कंपनी ने दावा किया है कि इस कोटिंग से 6 महीने तक यहां कोरोना वायरस फैलने का खतरा नहीं होगा। उन्होंने कहा कि हमने कंपनी से बिनती की है कि गुरु हरिकृष्ण अस्पताल बंगला साहिब और गुरु गोबिंद सिंह भवन जहां सारा स्टाॅफ बैठ कर काम करता है में भी यह कोटिंग जरूर की जाये।

 

 

 

 

 

स. कालका ने कहा कि जो उत्पाद कंपनी ने शुरु किया है कोरोना संकट के मद्देनजर यह समय की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इसके तहत एंटी वायरस कोटिंग की जाती है। हम कंपनी से बिनती की है कि कमेटी के सभी गुरुद्वारा साहिबान में यह कोटिंग की जाये। उन्होंने कहा कि अगले पड़ाव में जगर जरूरत पड़ी तो पेमेंट के आधार पर भी यह कोटिंग करवाई जायेगी।

 

 

 

 

 

इस मौके पर कंपनी के डायरैक्टर श्री मनीष कुमार ने बताया कि एकमे इंडिया एक भारतीय कंपनी है जो पिछले 12-13 वर्षों से काम कर रही है और इसका सैनेटाईज़ेशन व हैल्थ मामलों में ज़्यादा योगदान है। उन्होंने बताया कि कंपनी के दो प्लांट सोनीपत व एक रायबरेली में है। हम रेलवे, मैट्रो, हवाई जहाज़, रेलवे स्टेशनों और एयरपोर्ट आदि स्थलों पर सैनेटाईज़ेशन करने व स्वच्छता बनाये रखने के लिए सेवाएं देते हैं।

 

 

 

 

 

उन्होंने बताया कि आज के समय में जितने भी कीटाणुनाशक प्रयोग में लाये जा रहे हैं हरेक में किसी ना किसी किस्म कर ज़हर शामिल हैं। इस समय सोडियम हाइपोक्लोराइड का प्रयोग सब से ज़्यादा हो रहा है। यह असरदार तो है पर इसके छिड़काव से धब्बे पड़ जाते हैं जिसके कारण बसें में व रेलिंग पर निशान बन जाते हैं। उन्होंने बताया कि स्प्रे के पांच मिनट के बाद दवाई का असर खत्म हो जाता है जबकि दूसरी तरफ ए.आई. शील्ड तीन स्तरीय है जिसमें सीलीकोन व नाईट्रोजन के पाॅज़िटिव आयल के अलावा अन्य कैमिकल प्रयोग किये जाते हैं और इस कोटिंग का असर 6 महीने तक रहता है इसलिए जहां यह कोटिंग हो वहां 6 महीने तक कोई वायरस पनप नहीं सकता।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

इस मौके पर अन्यों के इलावा कमेटी की वरिष्ठ उपाध्यक्ष बीबी रणजीत कौर, कमेटी सदस्य विक्रम सिंह रोहिणी, भुपिंदर सिंह भुल्लर, मीडिया सलाहकार सुदीप सिंह रानी बाग व अन्य गणमान्य शख्सियतें मौजूद रहीं।

Leave a Reply