दिल्ली दो सगी बहनों की हत्या

AA News
New Delhi
Report : Anil Kumar Attri .

दिल्ली के अलीपुर थाना इलाके नाले से मिला दो बहनों का शव …दोनों बहने दिल्ली के सीलमपुर की रहने वाली …19 सितंबर को नौकरी की तलाश में निकली थी…19 सितंबर से ही दोनों बहनें थी लापता …हाईवे के पास नाले से मिला दोनों का शव …पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे बड़े सवाल …करीब 10 दिन पहले भी हाईवे के पास हुई थी एक rti एक्टिविस्ट की हत्या …

Rukhsar and Nabina

Rukhsar and Nabina


राजधानी दिल्ली के सीलमपुर इलाके से दो सगी बहने 19 सितंबर से लापता थी.. जिनका शव दिल्ली के अलीपुर थाना इलाके के पास नाले से मिला शव पूरी तरीके से गल चुका था जिसके चलते शुरुआती जांच में पहचान नहीं हो पा रही थी…

पुलिस जांच में जुटी और जांच के क्रम में पता चला कि दोनों सगी बहनें हैं जो कि दिल्ली के सीलमपुर इलाके में अपने परिवार के साथ रहती थी दरअसल रुखसार और नगीना नाम की जो दोनों बहने 19 सितंबर को अपने घर से नौकरी की तलाश में निकली थी लेकिन जब देर शाम भी वह वापस नहीं लौटी तो परिवार ने उनकी तलाश शुरू कर दी लगभग हर जगह पर पूछताछ और तलाश करने के बाद भी जब दोनों का कुछ अता पता नहीं चला तो परिवार ने इस बात की जानकारी पुलिस को दी…

दरअसल बड़ी बहन रुखसार ने कुछ समय पहले पीरागढ़ी के रहने वाले एक लड़के से लव मैरिज की थी लेकिन कुछ दिनों बाद ही उसका पति से झगड़ा होना शुरू होगया जिसके बाद से रुकसाना अपने पति से अलग अपने परिवार के साथ राह रही थी इस दौरान रुक्सार के पति के कई बार फोन आये और उसके धमकी तक दी ..

परिवार के मुताबिक 19 सितंबर को रुक्सार के पास एक फोन आया और नौकरी की बात कह कर कश्मीरी गेट बुलाया गया रुक्सार के साथ उसकी छोटी बहन नबीला भी गयी…

अलीपुर थाना इलाके में एक नाले से दो लड़कियों के शव बरामद हुए जांच में मालूम पड़ा कि यह दोनों रुखसार और नबीला है जो कि 19 तारीख से लापता थी …परिवार को बड़ी बेटी रुक्सार के पति पर हत्या का शक …

परिवार की माने तो रुखसार के पति नहीं उसको फोन करके नौकरी देने के बहाने कश्मीरी गेट बुलाया और उसी ने इन दोनों बहनों के साथ वारदात को अंजाम देकर उनके शव अलीपुर के नाले में ठिकाने लगा दिया साथ ही परिवार ने पुलिस पर भी लापरवाही के आरोप लगाए क्योकि शुरुआत में परिवार ने पुलिस को यह सारी बातें बता दी थी लेकिन बावजूद इसके सीलमपुर थाना पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया और नही अभी तक रुक्सार के पति को गिरफ्तार किया गया …

मौके पर पहुंचे तहसीलदार भी परिवार से पूछताछ की और उसका कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद जो चीजें साफ होंगी उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी…

बाईट में लड़कियों के पिताजी ने बताया (- लड़के से लव मैरिज की थी उसके बाद उससे नहीं बनी उसके बीवी पहले भी है और उसके बच्चे भी है इसको बहुत मारता था पीटता था। हाथ भी तोड़ दिया था इसलिए मेरी बेटी उसे छोड़ कर आ गई। 6 महीने महीने से मेरे साथ ही घर पर है। 19 तारीख की शाम 5:00 बजे किसी ने फोन करके उसे बुलाया इधर आ जाओ कश्मीरी गेट मेरी छोटी बेटी को लेकर बड़े वाली लड़की चली गई बोली अभी आ रहे हैं । मैं मना कर रहा था वह बोली फिकर ना करो पापा यदि कुछ होगा तो तुरंत हम सो नंबर कॉल कर देंगे । लकी ने अपने भाइयों या दोस्तों से फोन करवाया था 6:40 पर बात हुई फोन पर मैंने कहा बेटा ख्याल रखना फोन बंद मत करना चालू रखना उसके बाद ना तो दोनों के फोन खोले न ही कोई फोन आया तब से लापता है। कल 24 तारीख को अलीपुर थाने से फोन आता है कि आपने कंप्लेंट करवा रखी है सीलमपुर थाने में पूछा क्या नाम है पहचान पूछी फिर आकर हमने शिनाख्त कि मेरी बच्ची थी।)

बाइट में मृतक लड़कियों की मां ने बताया कि – ( उसके पति पर फुल शक है शक ही नहीं वही है उनका झगड़ा रहता था। वह कहता था दहेज के बारे में भी लड़ाइयां रहती थी । हाथ भी तोड़ दी थी। लव मैरिज की थी तो उन्होंने। अलीपुर थाने से पता चला यहां हॉस्पिटल में आए यहां दोनों बच्ची मिली मेरे से दोनों के चेहरे नहीं देखे रख गए सीलमपुर खाने वाले तीन दिन तक पागल बनाते रहे कि आज छुट्टी है।)

यह दोनों बहने सीलमपुर से अलीपुर कैसे पहुंची और इनके साथ क्या कुछ हुआ है..क्या रुक्सार के पति ने ही इन दोनों की हत्या की या फिर मामला कुछ और ही है यह तो जांच का विषय है …लेकिन इस मामले में पुलिस भी कई सवालों के जवाब तलाशने में जुटी है आखिर आखिरकार इन दोनों बहनों के साथ इस वारदात को किसने और क्यों अंजाम दिया क्या रुक्सार को फोन कर उसके पति ने ही बुलाया क्या उसी ने इन दोनों बहनों के साथ किसी वारदात को अंजाम दिया ..
वीडियो

वीडियो

ऐसे कई सवाल है जो पुलिस के लिए भी पेच बने हुए हैं लेकिन साथ ही साथ हाईवे के पास इस तरीके से शवों के मिलने पर पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान जरूर खड़े होते हैं क्योंकि अगर मुख्य हाईवे पर ही लोग सुरक्षित नहीं होंगे तो आखिर राजधानी में सुरक्षा की उम्मीद कहां की जाए…फिलहाल मामला सीलमपुर पुलिस को सौप दिया गया है …

Leave a Reply