बुराड़ी में भाजपा ने दिल्ली सरकार पर लगाए भ्रष्टाचार के बड़े आरोप, सड़क निर्माण में रिश्तेदारों को लाभ पहुंचाने का आरोप

बुराड़ी में भाजपा ने दिल्ली सरकार पर लगाए भ्रष्टाचार के बड़े आरोप, सड़क निर्माण में रिश्तेदारों को लाभ पहुंचाने का आरोप

भाजपा के उत्तर पूर्वी जिले के महामंत्री संजय त्यागी ने दिल्ली सरकार पर बुराड़ी विधानसभा के कुछ मुद्दों को लेकर गंभीर आरोप लगाए हैं।

वीडियो

Video

संजय त्यागी का आरोप है कि बुराड़ी विधानसभा में जो सड़क कंक्रीट या तारकोल की बननी थी उस सड़क को ईंटों से बना दिया गया। 100 फुटा मुख्य रोड़ है ये जो ईटों से बनाया गया है। साथ ही इन ईंटो की सप्लाई करने वाली कंपनी पर भी आरोप लगाते हुए आम आदमी पार्टी के नेताओं के रिश्तेदारों की ये कम्पनी भाजपा नेता ने बताई।

साथ ही बुराड़ी विधानसभा के तालाबो की बदहाली का भी मुद्दा संजय त्यागी ने उठाया।

साथ ही बुराड़ी विधानसभा में लंबे वक्त से काफी बड़ा जाम लग रहा है उस जाम को लेकर के लेकर भी मुद्दे उठाए । साथ ही बुराड़ी के सरकारी अस्पताल में सामान्य जनता के लिए ओपीडी आदि की शुरुआत नहीं हुई। बुराड़ी विधानसभा में सीवर योजना के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कई बार उद्घाटन करके गए लेकिन वह सिवर लाइन अभी तक नहीं डाली गई है।

इन सभी मुद्दों को लेकर भाजपा नेता संजय त्यागी ने बुराड़ी विधानसभा में आम आदमी पार्टी को घेरा।

संजय त्यागी ने कहा बुराड़ी विधानसभा क्षेत्र में आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार की उपेक्षा एंव विधायक संजीव झा की लापरवाही की वजह से अनेकों नागरिक समस्याएं बनी हुई है। विकास योजनाओं पर पिछले सात वर्षों से कोई कार्य नहीं हुआ है। आप पार्टी झूठे प्रचार एंव प्रसार में जनता के खून पसीने की कमाई को बर्बाद कर रही है।

बुराड़ी विधानसभा को लेकर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा की सभी योजनाएं झूठी साबित हो गई है। बुराड़ी गांव की 40 वर्ष पुरानी मांग बुराड़ी अस्पताल को निर्माण के दो वर्षो बाद भी जनता के लिए आरंभ नहीं किया जा सका है। जबकि बुराड़ी से सभी बड़े अस्पताल 10-10 किलोमीटर दूर स्थित है।

खुद मुख्यमंत्री केजरीवाल वर्ष 2015 में बुराड़ी में आकर अस्पताल को जल्द से जल्द जनता को समर्पित करने का विश्वास दिला कर गए थे। वर्ष 2013 में बुराड़ी से भाजपा के विधायक श्रीकृष्ण त्यगी के प्रयासों की बदौलत निर्माण कार्य आंरभ हुआ था। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने वर्ष 2017 में झड़ौदा में सीवर योजना का शुभारंभ किया था।

आज तक वह योजना पूरी नहीं हुई है। आधा-अधूरा कार्य कर छोड़ दिया है। इसके बाद वर्ष 2019 में मुकुन्दपुर में भी सीवर योजना का उद्घाटन किया, उस योजना का भी बुरा हश्र हो रहा है। सीवर निर्माण में अनेकों अनियमितताएं सामने आ रही है। जिससे स्थानीय लोगों को पेरशानी होती है।

लोगों के विरोध के बावजूद विधायक मौन धारण किए हुए है। मुख्यमंत्री और विधायक संजीव झा बुराड़ी विधानसभा के लाखों बस यात्रियों को बस शेल्टर मुहैया नहीं करवा सके। तेज धूप और मूसलाधार बारिश में बस यात्रियों को मुसीबतों का सामना करना पड़ता है।

इतना ही नहीं बुराड़ी गांव, संत नगर, मुकुन्दपुर, झड़ौदा, बंगाली कालोनी सहित अनेकों कालोनी वासियों को डीटीसी बसे उपलब्ध नहीं होती। बुराड़ी मुख्य मार्ग से बिजली के ट्रांसफार्मर एंव केबलों को भूमिगत करने की योजना फाइलों से बाहर नहीं आई। यातायात जाम की

समस्या का समाधान नहीं हुआ। लाखों लोग प्रतिदिन यातायात जाम की समस्या का सामना करते है। अनेकों बार मांग के बावजूद कूड़ाघर के लिए दिल्ली सरकार द्वारा जमीन मुहैया नहीं करवाई गई। सात वर्षों के दौरान क्षेत्र में एक भी नहीं स्कूल नहीं बनाया गया।

बुराड़ी के करीब 25 हजार विद्यार्थियों को 10-10 किलोमीटर दूर के स्कूलों में पढ़ना पढ़ रहा है। विधायक संजीव झा की अनदेखी के कारण बुराड़ी पुश्ता चौड़ीकरण क कार्य कछुआ गति से चल रहा है। जबकि इसके निर्माण से वाहन चालकों को बेहद राहत मिलेगी। अधिकांश मोहल्ला क्लीनिकों में निर्धारित टेस्ट नहीं होते, बल्कि दवाईयां भी नहीं मिलती।

बुराड़ी गांव की चौपाल जर्जर हो चुकी है। बुराड़ी जोहड़, तोमर कालोनी जोहड़ की बरसों से सफाई तक नहीं हुई है। बागपत नहर सड़क, स्वरूप नगर सड़क, इब्राहिमपुर गांव सड़क बुरी तरह से टूटी हुई है। अमृत विहार से हिरनकी बांध तक सड़क के दोनो ओर नाला निर्माण की योजना अधर में लटकी हुई है। हल्की बारिश होने पर मुख्य सड़क पर दो-दो फुट पानी भर जाता है।

आप पार्टी में भ्रष्टाचार का बोलबाला है और विधायक सरंक्षण प्रदान कर रहे है। बुराड़ी अस्पताल में लोगों को नौकरी लगवाने के नाम पर उनकी पार्टी के नेता का नाम सामने आया था। उसे दिखाने के नाम पर बाहर निकाला और फिर दोबारा से पार्टी में शामिल कर लिया गया।

विधायक ने बुराड़ी अस्पताल में दिल्ली सरकार द्वारा निर्धारित सिक्योरिटी गार्ड भर्ती करने वाली एंजेसी पर पैसों की लेन-देन के आरोप लगाए थे। लेकिन उसके बाद से मामले पर कोई कानूनी कार्यवाही नहीं की। लगता है कि विधायक एंव एंजेसी में मिली भगत हो चुकी है।