उत्तरी दिल्ली की खास ख़बरें देखें।

AA NEWS

DELHI

REPORT – TEAM AA NEWS

MLA संजीव झा ने बुराड़ी में कोविड-19 से ठीक हो कर आ रहे लोगों से प्लाज्मा डोनेट करने का अनुरोध किया

 

 

संजीव झा ने कहा कि उनकी विधानसभा से हैं कुछ लोग जो कोविड-19 से ठीक हो कर आए हैं उन्होंने दूसरों की जिंदगी बचाने के लिए अपना प्लाज्मा डोनेट किया है।

 

 

 

AA NEWS DELHI

AA NEWS DELHI

 

 

 

दरअसल दिल्ली में प्लाज्मा बैंक स्थापित किया गया है जिसमें लोग प्लाज्मा डोनेट कर दूसरे लोगों की मदद कर सकते हैं।
संजीव झा ने लोगों से अनुरोध किया कि जो लोग कोरोना से ठीक हो कर आ गए हैं वह अब दूसरे लोगों की जिंदगी बचाने में मदद कर सकते हैं प्लाज्मा डोनेट करके ।

 

वे दूसरों की जिंदगी बचाने के लिए एक कोशिश कर सकते हैं इसीलिए इस प्लाज्मा बैंक की स्थापना की गई है।
संजीव झा ने कहा कि मैं अपनी बुराड़ी विधानसभा के सभी लोगों से विनती करता हूं कि जो लोग कोविड-19 से ठीक हो कर आए हैं वे अपना प्लाज्मा डोनेट कर दूसरे लोगों की मदद करें ताकि उनकी वजह से किसी दूसरे को नई जिंदगी मिले ।
इससे बड़ा धर्म का कार्य है और कोई दूसरा नहीं हो सकता।
वैसे भी इस एरिया में लोग बढ़-चढ़कर सामने आ रहे हैं और अपना प्लाज्मा डोनेट कर रहे हैं ।

 

 

 

 

मुकुंदपुर बुराड़ी से मौजपुर जाने वाली मेट्रो का काम शुरू होने पर कांग्रेस द्वारा श्रेय लेने की बात पर AAP MLA ने कहा सभी को शुभकामनाएं

बुराड़ी से आम आदमी पार्टी के विधायक संजीव झा ने मुकुंदपुर बुराड़ी होते हुए मौजपुर जाने वाली मेट्रो के लिए लोगों को शुभकामनाएं दी है।

 

 

उनसे पूछा गया कि कांग्रेस का कहना है कि उनके प्रयासों से यह सब हुआ है तो संजीव झा ने कहा कि जिनके प्रयासों से हुआ उनको श्रेय मिलना चाहिए । इसलिए मैं उनको भी धन्यवाद देता हूं ।

 

 

संजीव झा ने कहा कि जो काम 30 साल पहले हुआ हो और उसका श्रेय अब हम आ कर ले उसे मैं उचित नहीं मानता । जिसने मेहनत की है उसको श्रेय मिलना चाहिए । साथ ही संजीव झा ने कहा कि फिलहाल जो काम चल रहा है उसके लिए दिल्ली सरकार का भी शुक्रिया किया।

 

संजीव झा ने कहा कि इस मुद्दे पर हमें राजनीति नहीं करनी हमारे लोगों को सुविधाएं मिलनी चाहिए जिन्होंने भी प्रयास किया उन सभी का मैं धन्यवाद करता हूं और बुराड़ी की जनता को शुभकामनाएं देता हूं।

 

दरअसल इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस के पूर्व सांसद जयप्रकाश अग्रवाल ने संसद तक में आवाज उठाई थी और इस मेट्रो लाइन के लिए वह अपनी ही सरकार से भिड़ गए थे। कांग्रेस के कार्यकर्ता इस काम के शुरू होने पर उनका शुक्रिया कर रहे हैं इसी के मद्देनजर संजीव झा ने भी सभी को शुभकामनाएं दी है ।

 

फिलहाल इस लाइन का काम शुरू हो चुका है जो यमुनापार को सीधे वजीराबाद बुराड़ी मुकरबा चौक रोहिणी को जोड़ते हुए पीरागढ़ी तक पहुंचेगी।

 

 

 

 

 

 

वजीराबाद के दोनों मोहल्ला क्लीनिक बंद होने पर कांग्रेस नेता कप्तान सिंह सांगवान ने उठाए सवाल

तिमारपुर विधानसभा के वजीराबाद गांव में 2 मोहल्ला क्लीनिक बनकर तैयार हुए दोनों इन दिनों नहीं चल रहे हैं। इन दिनों में कोरोना संक्रमण के दौरान बंद है। इन पर कप्तान सिंह सांगवान ने सवाल उठाया है।

 

 

कप्तान सिंह सांगवान ने कहा कि वर्ल्ड क्लास मोहल्ला क्लीनिक आम आदमी पार्टी बनाने के लिए चली थी बड़े-बड़े सुविधाओं के दावे किए जा रहे थे लेकिन जब कोरोना का संकट आया तो यही मोहल्ला क्लीनिक बंद पड़े हैं। ऐसे मोहल्ला क्लीनिक का क्या फायदा।

 

 

साथ ही कप्तान सिंह सांगवान ने कहा कि सरकार से इतना अनुरोध करता हूं कि कोविड-19 के टेस्ट में बेहद सावधानी बरती जाए क्योंकि यदि एक भी टेस्ट गलत आता है किसी नेगेटिव को पॉजिटिव बता दिया जाता है तो उसके उस शख्स और उस परिवार को कितना कठिनाइयों से गुजरना पड़ेगा सिर्फ एक टेस्ट की गलती की वजह से आप उसका अंदाजा लगा सकते हैं।

 

 

 

इसलिए जरूरत है बेहद सावधानी पूर्वक टेस्ट को किया जाए जल्दबाजी में कोई टेस्ट ना हो।

 

 

 

 

 

 

दिल्ली के अखाड़ों के खिलाड़ियों ने नियमों के साथ रेसलिंग प्रैक्टिस की अनुमति मांगी

राजधानी दिल्ली में अनलॉक डाउन होने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली जो दिल्ली में बने हुए तमाम अखाड़े हैं। जिनमें पहलवान पहलवानी करते हैं रिहर्सल करते हैं। और नेशनल व इन्टरनेशल खेल में देश का नाम रोशन करते हैं।

 

अब ये काफी चिंता में है क्योंकि करीब पिछले 3-4 महीने से अखाड़े बंद होने की वजह से इनका रिहर्सल करने का समय टाइम टेबल आउट हो चुका है ।साथ ही यह पहलवान काफी उदास भी है। और दिल्ली सरकार से गुजारिश कर रहे हैं। कि दिल्ली सरकार एतिहात के साथ में हम लोगों के जो अखाड़े खोलने की अनुमति दे।

 

 

कश्मीरी गेट यमुना किनारे बने इन अखाड़ों में सैकड़ों पहलवान अलग-अलग जगह से आकर रिहर्सल करते हैं ।और इन्हीं अखाड़ों से निकलकर ओलंपिक गेम्स ने भी भाग लेते हैं । ओर कुस्ती जगत में देश का नाम रोशन करते हैं लेकिन लॉक डाउन के बाद में सभी अखाड़े बंद कर दिए गए जैसी ही दिल्ली अनलॉक हुई ।तभी इन पहलवानों को भी उम्मीद जगी है ।

 

 

 

इनकी मांग है दिल्ली सरकार कुछ छूट के साथ इनके सभी अखाड़ों को खोलें और यह एक बार फिर से सभी खिलाड़ी पहलवान अखाड़े में प्रैक्टिस करे ताकि आने वाल भविष्य में ओलंपिक में भाग ले और देश का नाम रोशन करे।

 

 

 

 

 

 

 

दिल्ली यूनिवर्सिटी का बस क्यू शेल्टर हुआ खस्ताहाल, कभी भी गिर सकता है सवारियों के ऊपर

आप देख सकते हैं दिल्ली यूनिवर्सिटी में देश के अलग-अलग राज्यों से स्टूडेंट्स पढ़ने के लिए आते हैं। फिलहाल कोरोना संक्रमण की वजह से स्टूडेंट कम जरूर आ रहे हैं लेकिन फिर भी निजी कामों के लिए यहां बड़ी संख्या में स्टूडेंट आते हैं। बावजूद उसके पॉश इलाके के हालात भी आप देख सकते हैं। यहां पर जो बस क्यू शेल्टर है डीटीसी का वह पूरी तरह जर्जर हो चुका है ।

 

 

मानसून के सीजन में लोग बारिश से बचने के लिए इसके नीचे खड़े होंगे तो यह गिर भी सकता है क्योंकि कई हिस्से तो इसके हवा में झूल रहे हैं।

 

 

खास बात यह है कि दिल्ली यूनिवर्सिटी से कुछ दूरी पर ही सिविल लाइन है जहां पर मुख्यमंत्री का आवास है पास में ही विधानसभा है बावजूद उसके आप देख सकते हैं कि कितना ध्यान दिल्ली के इन बस क्यू शेल्टर पर है ।

 

 

पहले ग्रामीण लोगों को टूटे बस क्यू शेल्टर की या बस क्यू शेल्टर नहीं होने की शिकायत होती थी लेकिन अब तो पोश एरिया में भी ऐसे हालात हो गए हैं।

 

 

अब देखने वाली बात होगी कि इस बस क्यू शेल्टर की डीटीसी विभाग कब सुध लेता है ।
बात यह भी देखने वाली होगी कि दिल्ली के दूसरे ग्रामीण इलाकों के भी यही हालात हैं वहां के बस क्यू शेल्टर का भी सुधार होता है या नहीं।

 

 

 

 

 

 

झड़ौदा पुश्ते के पास जहां बनना था केंद्रीय विद्यालय वहां बना गंदे पानी का तालाब, फैल रही है बीमारियां

नॉर्थ दिल्ली के झड़ौदा पुश्ते के पास बनी खाली जमीन में गंदा पानी इक्खटा होने से बीमारियों होने का खतरा मंडरा रहा है । इस जमीन को आप देखते हैं। यह कोई तालाब नहीं है बल्कि यह एक सरकारी जमीन है। जिसका निरीक्षण यहां के सांसद मनोज तिवारी ने आये थे और लोगों को आश्वासन दिया था कि इसमें जल्द ही केंद्र विद्यालय बनाया जाएगा ।

 

 

 

हालांकि इस इलाके में कहीं भी एक भी केंद्र विद्यालय नहीं है। जिसमें बच्चे अच्छी शिक्षा ग्रहण कर सकें। लेकिन बार-बार इस खाली जमीन में पानी को लेकर स्थानीय लोगों ने विधायक को निगम पार्षद को शिकायत दी थी। उसी को मद्देनजर रखते हुए सांसद मनोज तिवारी भी यहां पहुंचे और यहां उनके साथ शिक्षा विभाग से जुड़े कई अधिकारी भी आए थे।

 

 

 

जिन्होंने इस जमीन को देकर कहा कि यहां स्कूल काफी अच्छा बन सकता है। लेकिन अब इन बातों को भी करीब 1 साल बीत चुका है ।और अब यहां के लोग इस जमीन को लेकर काफी परेशान हैं। क्योंकि यहां हमेशा जल भराव रहने की वजह से उसके चारों तरफ इमारतें खड़ी है। उनमें भी अब दरारे आने का खतरा पैदा हो रहा है। यहां के लोग गन्दे पानी की दुर्गंध ओर गंदगी की वजह से काफी परेशान है ।

 

 

 

साथ ही इसमे बीमारियां फैलने का खतरा बढ़ता हुआ। नजर आ रहा है ।अब देखने वाली बात होगी होगी कि इस जमीन पर सरकार अब क्या निर्णय लेगी ।यहां पर कार्य निर्माण शुरू करवाएंगे या सिर्फ जनता को आश्वासन देने के लिए यहां पर मनोज तिवारी सांसद पहुंचे थे। अब यहां के लोग इस समस्या से काफी परेशान हो चुके हैं ।और सरकार से बार-बार गुहार लगा रहे हैं । यदि यहां स्कूल नहीं बनता है ।तो इस जमीन को पार्क में तब्दील कर दिया जाए देखने वाली बात होगी सरकार इस समस्या को किस तरह समाधान करती है ।

 

 

 

 

 

 

वजीराबाद की गली नंबर 3 के लोगों ने कहा पिछले 5 साल से झेल रहे हैं इस टूटी गली की समस्या, हमारी कोई नही सुनता

यहां के लोगों का कहना है कि पिछले 5 साल से यहां की सड़कें एक गलियां, नालियां टूटी हुई है । लेकिन यहां नेता अपनी राजनीति करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। पहले यहां विधायक पंकज पुष्कर थे। जिनके पास कई बार शिकायत दी। पिछले 5 साल से सिर्फ यहां के जनप्रतिनिधि आश्वासन पर आश्वासन दे रहे हैं लेकिन इन गलियों का कार्य निर्माण अभी तक पूरा नहीं किया गया।

 

 

 

जिनकी वजह से इन्हें आने-जाने में दिक्कत होती है । जो इनकी गाड़ियां है उनको बाहर सड़क पर खड़ा करना पड़ता है। जिसमें कई बार चोरियां भी हो चुकी है।

 

 

 

 

इस मामले की शिकायत कई बार मौजूदा विधायक दिलीप पांडेय, स्थानीय निगम पार्षद अमरलता सागवान को कई बार दे चुके हैं । यहां लोगो का आरोप के की जब से विधानसभा चुनाव हुए है । यहां के नए विधयाक दिलीप पांडे बने है लेकिन जितने के बाद यहा की समस्या को लेकर शिकायत भी दी है ।लेकिन विधायक दिलीप पांडेय ने एक बार भी यहां आकर नही देखा ।

 

 

 

 

अव सावन का महीना चल चुका है। और बरसात भी लगातार होगी बरसात के बाद गलियों के हालात ओर बद से बदतर हो जाएंगे। गलियों में पड़े हुए पत्थर भी पानी में नहीं दिखाई देते हैं ।और जो गड्ढे हैं उनकी कितनी गहराई है उसका भी अंदाजा नहीं लगता जिसकी वजह से गलियों में आने जाने वाले लोगों को चोट भी लगती रहती है।

 

 

 

 

 

 

 

निगम के सफाई कर्मचारियों को नहीं मिल रहे हैं पर्याप्त मास्क, ग्लाउज आदि, स्थानीय लोगों ने बांटा इन कर्मचारियों को यह सामान

राजधानी दिल्ली में एक तरफ तो दिल्ली सरकार दिल्ली के हॉस्पिटलों में काम करने वाले डाक्टर व कर्मचारियों को सैनिटेशन ,मास्क ओर हैंड गलैप्स देने की बात करती है। वहीं एमसीडी भी अपने कर्मचारियों को covid 19 से लड़ने के सभी उपकरण देती है ।लेकिन वास्तविकता कुछ और है । प्रशासन सफाई कर्मचारियों को पूर्ण रूप से covid 19 से लड़ने के लिए हैंड गलैप्स ओर सेनिटाइजर व मास्क नहीं दे पाती। जिसकी वजह से ये कर्मचारी काफी परेशान होते है।

 

 

 

 

 

ईसी को मध्य नजर रखते हुए एक शख्स आगे आया जो ना ही कोई राजनेता है और ना ही कोई अभीनेता।

 

 

 

 

 

यह एक आम नागरिक है। जो कि तिमारपुर के वजीराबाद गली no 3 रहते है। इन्होंने नगर निगम में काम करने वाले कर्मचारियों को लेकर एक मुहिम चलाई जिसमें यह से काम करने वाले लोगो को हैंड गलौज,सेनेटाइजर , ओर मास्क बांट रहे है ।

 

 

 

 

 

 

भलस्वा डेयरी के निगम स्कूल में 8 दिन से सरकार द्वारा कोरोना टेस्टिंग जारी, अभी तक सभी के टेस्ट आये नेगेटिव

 

 

भलस्वा डेयरी के निगम स्कूल में दिल्ली सरकार द्वारा कोरोना की फ्री टेस्टिंग शुरू की गई है । यह टेस्टिंग 1 जुलाई से शुरू की गई है और 8 जुलाई तक 500 के करीब लोगों ने यहां अपनी जांच करवाई है।

 

 

 

सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है । यहां से आम आदमी पार्टी के स्थानीय नेता व समाजसेवी सुरेश शर्मा ने लोगों से हाथ जोड़कर अनुरोध किया है कि जिसे भी कुछ संदेह हो वह अपना टेस्ट यहां आकर जरूर करवाएं । टेस्ट का कोई चार्ज नहीं है। सब टेस्ट फ्री में किए जाते हैं। हर रोज यहां पर काफी लोग टेस्टिंग करवाने के लिए पहुंच रहे हैं और यहां के लोग भगवान का शुक्रिया कर रहे हैं कि अभी तक एक भी पॉजिटिव केस नहीं आया है।

 

 

 

 

 

 

 

जहांगीरपुरी से कांग्रेस नेता अश्वनी बागड़ी ने रेहड़ी पटरी लगाने वालों का फिर उठाया मुद्दा

 

 

अश्वनी बागड़ी ने कहा कि आज केशव पुरम जोन में उनकी तहबाजारी के मामले में मीटिंग थी जिसमें उन्होंने मौजूदा नीतियों का विरोध किया है।

 

 

 

अश्वनी बागड़ी ने कहा कि 40 – 50 साल से पहले से जो तहबाजारी दे रहे हैं जिन्होंने अपनी जगह की पेमेंट भी कर दी । उन लोगों को भी फिर से रजिस्ट्रेशन की बातें कर रहे हैं।

 

 

 

 

 

दिल्ली में तहबाजारी के तहत रेहड़ी पटरी लगाने वालों के रोजगार पिछले कई महीनों से बंद है। उन्हें शुरू करने के बजाय सरकार नगर निगम नए-नए अड़ेंगे लगा रहा है और क्या कहा अश्वनी बागड़ी ने आप उन्हीं से सुनिए।

Leave a Reply