नरेला में जलती चिता बुझाकर महिला का शव निकाला

दिल्ली के नरेला में लोगो ने शमशानघाट में महिला की चिता की आग बुझाई और पुलिस को सूचना दी. मौके पर पुलिस और तहसीलदार ने आकर शव को चिता से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा. महिला का पति आकर रहा था अंतिम संस्कार. पति को हिरासत में लेकर नरेला थाना पुलिस जांच में जुटी है. पति का कहना की बीती रात महिला की मौत नेचुरल हुई थी पर आनन फानन में पांच लोग अंतिम संस्कार करने आये थे फिलहाल पुलिस जांच में जुटी है.

Narela Shashan Ghat

Narela Shashan Ghat

दिल्ली के नरेला में DDA पॉकेट ग्यारह के पास बने शमशानघाट में सुबह सुबह कन्हैया नाम का ये शख्स अपनी पत्नी का अंतिम संस्कार करने पहुंचा. पति समेत चार से पांच लोग ही अंतिम संस्कार करने आये थे जो पति कन्हैया के मित्र थे. जब आसपास के लोगो ने देखा की उनके पडोस का किराए पर रहने वाला शख्स आनन फानन में पत्नी का अंतिम संस्कार करने गया है तो तुरंत कन्हैया के पड़ोसी शमशानघाट पहुंचे क्योकि पड़ोसियों ने रात को इनके घर से झगड़े की आवाजे भी आ रही थी. लोगो ने जाकर देखा कि पति अंतिम संस्कार कर रहा है शव को लडकियों में रखा हुआ था और आग लगा दी थी लोगो ने तुरंत आग को पानी डालकर बुझाया और पुलिस को कॉल कर दी. मौके पर नरेला थाना पुलिस आई साथ में तहसीलदार को भी बुलाया गया. बुझाई गई चिता से शव को निकाला और पुलिस ने बाबू जगजीवनराम अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

वीडियो देखें

 

शमशानघाट में जो केयरटेकर थे इन्होने मात्र पांच आदमी के आने पर अंतिम संस्कार शुरू कर दिया न ही मौत के कारण को जाना. यहा शमशानघाट के केयरटेकर का भी फर्ज था की वो वजह भी जाने और शक हो तो पुलिस को भी कॉल करें पर ऐसा नही किया आसपास के लोग आकर चिता की आग नही बुझाते तो शायद मौत की जांच ही नही हो पाती.

इस मामले में पति का कहना है की सुसाईट का मामला है पर इस तरह सुसाईट केस को भी बिना पुलिस और महिला के परिजनों को बताये आनन फानन में अंतिम संस्कार कई सवाल खड़े करता है. कन्हैया और पत्नी नीलम ने लोव मैरिज की थी और किराए पर रहते थे. कन्हैया पैसे से प्राइवेट ड्राइवर है. इनका ये एक साल का मासूम बच्चा भी है. फिलहाल तक महिला के परिजन यहाँ नही पहुंचे है. मार्टम के लिए भेजकर नरेला था पुलिस जांच में जुटी है और पति को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है .
अनिल अत्री दिल्ली

Leave a Reply