दमदमी टकसाल का अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन। जानिए इस टकसाल के बारे में

AA News
Delhi
Report : Anil Kumar

दिल्ली के माता सुंदरी देवी कॉलेज में दमदमी टकसाल द्वारा अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन किया गया। दमदमी टकसाल कोई सिक्के या करेंसी बनाने की टकसाल नहीं बल्कि इंसान बनाने की टकसाल है जो सिख धर्म का की शिक्षाओं का प्रचार करती है और देश के सबसे बड़े जाने-माने ग्रंथि इसी टकसाल के विद्यार्थी रहे हैं । इस टकसाल का हेड क्वार्टर “गुरुद्वारा गुरु दर्शन प्रकाश” है जिसको 50 वर्ष पूरे हुए हैं । गुरुद्वारा गुरु दर्शन प्रकाश के 50 वर्ष पूरे होने पर यह इस तरह के पांच सेमिनार रखे गए हैं। पहला सेमिनार पंजाब में खालसा कॉलेज में हुआ तो दूसरा सेमिनार के दिल्ली में हुआ है ।

Mata Sundari Devi College Delhi

Mata Sundari Devi College Delhi

एक सेमिनार मुंबई में होगा। आज के इस सेमिनार में दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा पहुंचे । मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि दमदमी टकसाल इंसान बनाती है और सिख कौम ने बड़ी बड़ी देन देती है ।

मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि इसकी खासियत यह है कि यह टकसाल 400 साल पुरानी अपनी पुरातन संस्कृति पर भी कायम है साथ ही मॉडर्न भी है।


Video

अंतरराष्ट्रीय सेमिनार दमदमी टकसाल साल के मुखी बाबा हरनाम सिंह खालसा के द्वारा रखा गया। बड़े-बड़े विद्वान और मुखी मुखी सेमिनार में पहुंचे।

Leave a Reply