दिल्ली : नीलगाय और मोटरसाइकिल में टक्कर एक कि मौत ।

हिरणकी अलीपुर नई दिल्ली।
AA News

वीडियो

वीडियो

दिल्ली के अलीपुर थाना एरिया के हिरणकी गांव के पास सड़क से गुजर रही मोटरसाइकिल से नीलगाय टकराई। नीलगाय के साथ टक्कर होने के बाद बाइक सवार शख्स सड़क पर गिरा और सिर फटने से मौत हो गई । बाइक पर पीछे सवार इनकी बेटी घायल हालत में नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराई गई है जिसका इलाज जारी है। मृतक अपनी बेटी को एग्जाम दिलाने के लिए स्कूल ले जा रहा था। बख्तावरपुर गांव के स्कूल में सुनसान खेतों के पास अचानक भागती हुई नीलगाय सड़क पार कर रही थी उस दौरान हुआ हादसा हो सकता है हादसे में कुछ चोट नीलगाय को भी आई हो लेकिन नीलगाय काफी खाली जंगल और खेतों में रहती है।

Hirany Bakhtawarpur Alipur Delhi-110036

Hirany Bakhtawarpur Alipur Delhi-110036

यमुना किनारे हिरणकी गांव के पास से 45 साल का अशोक कुमार अपनी बेटी को CBSE बोर्ड का एग्जाम दिलाने के लिए बख्तावरपुर गांव के स्कूल में ले जा रहा था इसी दौरान गांव के पास सड़क पर अचानक एक नीलगाय भागती हुई आई जो सड़क के एक तरफ से दूसरी तरफ जा रही थी नीलगाय अचानक मोटरसाइकिल से टकरा गई और बाइक सवार अशोक बाइक से गिर गए हेलमेट सिर से हटकर दूर जा गिरा और अशोक का सिर सड़क पर जाकर लगा और काफी खून बहने लगा आसपास के लोगों ने रास्ते से गुजर रही एक वैन में तुरंत अशोक को अस्पताल के लिए भेज दिया लेकिन ज्यादा खून बहने के कारण अस्पताल ले जाते हुए अशोक की मौत हो गई। अशोक के पीछे मोटरसाइकिल पर उनकी बेटी बैठी थी जिसे एग्जाम दिलाने के लिए अशोक ले जा रहा था । बेटी को भी काफी चोट आई है जो बख्तावरपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती है।

इस तरह खेतों में अचानक से निकल के सामने नीलगाय का आना कोई नई बात नहीं है इससे पहले भी इस तरह की यहां दुर्घटनाएं आम हो चुकी है और कई मौतें भी पहले भी इस तरह के हादसों में हो चुकी है क्योंकि यहां पर एक तरफ यमुना का हिस्सा तो दूसरी तरफ भी काफी बड़ा सरकारी जंगल है इसलिए यहां पर नील गाय रहती है जिसमें इस तरह के सरकारी जंगल के आसपास और सड़क के किनारे खेतों में नेशनल हाईवे पर काफी जगह जालियां लगा दी जाती है जिससे पशु अचानक सड़क पर ना सके लेकिन दिल्ली की ये सड़क पर भले ही यह नेशनल हाईवे ना हो लेकिन हादसे यहां पर ज्यादा होते हैं और काफी जंगल के कारण नीलगाय रहती है लोगों की सुरक्षा और नील गायों की सुरक्षा के लिए जरूरत है। दिल्ली सरकार यहां पर कोई बाउंड्री बनाए या किसी तरह के तार आदि की बैरीकेटिंग करें जिससे यह पशु अचानक सड़क पर ना सके और जंगल में ही विचरण करते रहे फिलहाल अभी तक सरकार की कोई ऐसी योजना नजर नहीं आ रही है इसलिए जरूरत है इंसान खुद संभल कर इस एरिया में धीरे-धीरे अपनी गाड़ी मोटरसाइकिल चलाएं । डबल न्यूज़ को लाइक और सब्सक्राइब जरूर करें ।

Leave a Reply