डीटीसी 100% दिल्ली सरकार की फिर तीन महीने क्यो इसी सप्ताह माताओ बहनो के लिए फ्री करें केजरीवाल : शैलेन्द्र कुमार

AA News

  1. #Burari_Metro

बुराड़ी विधानसभा में DTC बसों के स्टैंड पर कही भी क्यू शेल्टर नही, माताएं बहने 48° तापमान में खड़ी होकर बस का इंतजार करती है। सरकारी टॉयलेट तो सड़क किनारे कही भी नही :– शैलेन्द्र कुमार (वरिष्ठ सरंक्षक लोक कल्याण बुद्धा फाउंडेशन)

डीटीसी 100% दिल्ली सरकार की फिर तीन महीने क्यो इसी सप्ताह माताओ बहनो के लिए फ्री करें केजरीवाल : शैलेन्द्र कुमार

 

Shailender Kumar ( Delhi JDU Leader )

Shailender Kumar ( Delhi JDU Leader )

शैलेन्द्र कुमार ने कहा कि CM साहब मैट्रो व डीटीसी बसों में माताओ बहनो के फ्री में यात्रा की पॉलिसी की बात कर रहे हैं पर बुराड़ी में जो मैट्रो पम्प हाउस पुश्ते से आनी थी उसका काम ही शुरू नही हुआ। जो डीटीसी की बस इब्राहिमपुर से आजादपुर जाती थी वो रुट चार साल से ज्यादा हो गए बंद पड़ा है और भी कई रुट बन्द हो गए । जब यहां मैट्रो नही ला सके उनके विधायक न डीटीसी बसे पूरी है फिर इस फ्री की बात की अफवाह फैलाकर माताओ बहनो के वोट के लिए यह कह रहे है । यदि केजरीवाल असलियत में ये सफर माफ करें तो हम भी स्वागत करेंगे पर ऐसा नही है। तीन महीने का समय मांगा गया है उसके बाद एक दो महीना और समय गुजार देंगे तत्पश्चात चुनाव आचार संहिता लग जाएगी फिर दिल्ली विधानसभा के चुनाव आ जाएंगे इस मुद्दे पर केजरीवाल साहब वोट मांगेंगे लेकिन काम यह लागू होगा नहीं। माताएं बहने फ्री में यात्रा नहीं कर पाएगी और केजरीवाल का आखिर में एक ही जवाब होगा कि प्रधानमंत्री मोदी ने यह काम नहीं करने दिया।

 

शैलेंद्र कुमार ने कहा कि 1995 के आसपास की काल में दिल्ली में 7000 से ज्यादा बसें चलती थी जिनकी संख्या आजकल सिमटकर मात्र साढ़े तीन हजार हो गई लेकिन जनसंख्या कई गुना बढ़ी जनसंख्या के लिहाज से इस वक्त दिल्ली में 35000 बसों की जरूरत है पर दिल्ली के पास चार हजार बसें भी पूरी नहीं है। केजरीवाल जी उस फेलियर को छुपा रहे हैं 25 नए कॉलेज बनाने का वायदा किया था एक भी कॉलेज की बिल्डिंग नहीं बना पाये, सीसीटीवी और वाईफाई के वायदों पर भी फेल हो गए। 70 में से 7 वायदे भी अच्छी तरह पूरे नहीं किए तो अब यह नया वायदा किया है कि वह माताओं बहनों को फ्री में यात्रा करवाएंगे। शैलेंद्र कुमार ने कहा कि बुराड़ी विधानसभा के विधायक ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर के सचिव थे उस वक्त उनके हाथ में बस स्टैंड के क्यू शेल्टर पूरी दिल्ली के बनवा सकते थे वे बुराड़ी का भी एक भी बस क्यू शेल्टर नहीं बनवा पाए। सर्दी और धूप में माताएं , बहने , बुजुर्ग बीमार , बच्चे सब धूप में तपते हैं पर छाया उपलब्ध नहीं।

 

न ही बुराड़ी की सड़क बन पाई इन सब मुद्दों को छिपाने के लिए जनता इनका हिसाब ना मांगे तो नया राग अलापना शुरू कर दिया कि वह मेट्रो आदि में फ्री सेवा देंगे।

।।

Leave a Reply