दिल्ली बाप बेटा गिरफ्तार , कर चुके है 100 से ज्यादा चोरियां

दिल्ली पुलिस के आउटर जिले की स्पेशल स्टाफ टीम ने 2 शातिर बाप बेटे को गिरफ्तार किया है। जो पूरी कंपनी की तरह चोरी के लेपटॉप और मोबाइल को पहले चोरी करवाते ओर फिर उन्हें बेचते

प्रभाकर राणा
लोकेशन :- आउटर डिस्ट्रिक्ट दिल्ली

आपने बाप नम्बरी तो बेटा दस नम्बरी की कहावत तो जरूर सुनी होगी । ऐसे ही 2 बाप बेटे को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है जोकि मोबाइल और लैपटॉप जैसे कीमती गेजेट्स को न सिर्फ बेचते थे बल्कि अपने ही साथियों से वारदातों को अंजाम दिलवाते थे। और बाकायदा अपने इस धंधे के लिए चोरों को हायर करते थे । बरहाल इनके पकड़े जाने के बाद पुलिस ने करीब 100 मामले सुलझाने का दावा किया है ।
पुलिस की गिरफ्त में खड़े ये 2 अपराधी सगे बाप बेटा हैं । और इनपर बाप नम्बरी तो बेटा दस नम्बरी की कहावत सच साबित होती है । ये दोनों ही चोरी के मोबाइल व लैपटॉप जैसे गैजेट्स का धंधा करते थे । जिसके लिए ये बाकायदा नए नए लड़को को हायर करते और इनसे मोबाइल और लैपटॉप चोरी की वारदातें करवाते और फिर उन्हें आगे बेच देते। जिसके बदले ये अपने साथियों को पैसे के साथ साथ उनके खाने पीने से लेकर सारी जरूरतों को पूरा करते। साथ ही इनके साथी ज्यादातर ऐसी बसों में वारदातों में अंजाम देते जिनमे भीड़ भाड़ ज्यादा होती। और लैपटॉप व महंगे फोन रखने वाले लोगो को अपना निशाना बनाते । इनके इस गिरोह में अलग अलग जगहों पर कई टीमें काम करती थी जिनसे हर एक टीम में करीब 5-6 लोग होते थे जिनमे से एक मुख्य आदमी होता जिसे इनकी भाषा मे ये लोग मशीन कहते हैं ।
नंदकिशोर @ कराटे को जब लगने लगा कि वो अब उसकी उम्र बढ़ती जा रही है तो उसने खुद न काम करके इस काम मे माहिर लोगो को हायर करना शुरू कर दिया । और इसका बेटा सुभाष भी अपने पिता के ही नक्शे कदम पर चल पड़ा और अपने पिता के गैर कानूनी धंधों में उसका साथ देने लगा। दोनों में संतरी रंग की टी-शर्ट में खड़ा ये अधेड़ उम्र का बदमाश नंद किशोर @ कराटे है जिसपर हत्या, लूटपाट, डकैती, चोरी, झपटमारी आदि के करीब 40 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। इसने अपनी जवानी के समय ही अपराध की दुनिया मे कदम रख दिया था और इसपर पहला मुकदमा सन 1992 में हुआ था तब से अब तक से लगातार वारदातों में अंजाम दे रहा था । शुरू में ये एक था और इसने धीरे धीरे अपना गैंग बना लिया। और एक तरह से अपनी एक कंपनी बनाकर ये गंदा धंधा शुरू कर दिया।
आउटर जिले की स्पेशल स्टाफ की टीम ने इन्हें एक गुप्त सूचना के आधर पर मंगोल पूरी इलाके से गिरफ्तार किया, जहां इनके पास से चोरी के करीब 54 मोबाइल और एक दर्जन लेपटॉप बरामद किए हैं । पकड़े गए कई मोबाइल और लैपटॉप की FIR के आधार पर उनके मालिको को भी बुलाया गया है । जोकि कि चंद दिन पहले ही चोरी हुए अपने मोबाइल और लैपटॉप को पाकर बहुत खुश हैं और अब दिल्ली पुलिस का शुक्रिया अदा कर रहे हैं
बरहाल पुलिस ने इन शातिर बाप बेटे को गिरफ्तार कर कुछ राहत की सांस जरूर ली है। और इनके अन्य साथियों की गिरफ्तारी के लिए भी कई जगह धर पकड कर रही है और आगे की तफ्तीश में जुट गई कि आखिर इनके तार कहाँ कहाँ तक जुड़े हुए हैं ।

Leave a Reply