नरेला में लामपुर रोड पर बना अंडरपास लोगों को दे रहा,राहत के बदले मौत।

बाहरी दिल्ली नरेला में लामपुर रोड पर बना अंडर पास लोगों के लिए मौत का कुआं बनता जा रहा है इसमें उत्तर रेलवे ने उप नगर नरेला में अपनी आवश्यकताओ के समान की खरीदारी करने, अपने निजी कार्य करने आने से बांकनेर,स्वतंत्र नगर, लामपुर व एन सी आर के दो दर्जन गांव के साथ साथ लगभग दर्जन भर कालोनी के पैदल चल कर आने वालों को कंक्रीट की मोटी एवं मजबूत दीवार करके रोक दिया है लोग पैदल अंडरपास का प्रयोग इस लिए नहीं कर पा रहे क्योंकि इसमें कोई फुटपाथ नहीं बनाया गया है

Narela Lampur Railway underpass

Narela Lampur Railway underpass

इसका निर्माण परियोजना के अनुसार नहीं किया गया है इसमें पैदल रेलवे लाइन पार करने के लिए एक तरफ सीढ़ियां और दूसरी तरफ एलिवेटर बनाने का प्रयोजन प्रस्तावित है और दिल्ली का मंडलीय खेलों से पूर्व बनने वाला सबसे महंगा अंडरपास है लेकिन उतरी दिल्ली नगर निगम के अधिकारियों की निष्क्रियता और स्वार्थ सिद्धि प्रवृति होने के कारण मंडलीय खेलों के सात वर्ष बाद भी अधूरा है सतर्कता विभाग उतरी दिल्ली नगर निगम शिकायते मिलने के बाद भी कार्यवाही करने की बजाय हाथ पर हाथ धरे बैठा है।इसमें कोई भी कार्य परियोजना अनुसार ना करके करोड़ों रुपए का घोटाला होने का अंदेशा है इसमें लगी जाली हो या लाइट की व्यवस्था हो पिछले काफी समय से टूटी पड़ी है और किनारों पर भारी भरकम स्पीड ब्रेकर लोगों की जान लेने वह हड्डियां तोड़ने के लिए दावत दे रहे है इस बारे दिल्ली उच्चतम न्यायालय में भी पूरे भारत में बिना मानक आधार के सभी स्पीड ब्रेकरों को हटाने के आदेश दे दिए हैं लेकिन उत्तरी दिल्ली नगर निगम के नरेला क्षेत्र के अधिकारियों पर शायद यह नियम लागू नहीं होते क्योंकि शिकायत भेजने के बाद भी ना तो उन स्पीड ब्रेकर को हटाया गया है और ना ही उन पर अलग से कंक्रीट डाल कर लंबा बनाया गया है जबकि पूरी दिल्ली में जो स्पीड ब्रेकर मानक आधार पर नहीं थे उन्हें या तो हटा दिया गया है या फिर उन स्पीड ब्रेकर की सतह को दूर से लाकर ऊंचा किया गया है इस अंडरपास को राजनैतिक वाही वाही लूटने के लिए आनन फानन में शुरू कर दिया गया, जिसे परियोजना के अनुसार नहीं बनाया गया, अधिकारियों द्वारा अपनी मनमर्जी से इसमें फेर बदल कर दिए गए जो यहां के लोगों के लिए सुविधाओं की बजाय मौत का कुआं बनता जा रहा है, इसमें बहुत सारी अनियमितताएं हैंजो लोगों के लिए मौत की दावत दे रही है वैसे ही दिल्ली नगर निगम, लापरवाही में सबसे आगे है लेकिन उत्तरी दिल्ली नगर निगम का नरेला क्षेत्र शायद पूरे भारत में लापरवाही पर नंबर 1 हो, क्योंकि इनको शिकायत करने के बावजूद भी यह कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाते

Leave a Reply