दिल्ली के गांव में जनता ने नेताओ की No Entry के पोस्टर लगाये

AA News
Mubarkpur Delhi
..

दिल्ली के किराड़ी विधानसभा के मुबारकपुर डबास गांव में लगाए लोगों ने राजनेताओ की नो इंटरी के पोस्टर। लोगों की माने तो नही हो रहा कोई भी काम, जी रहे है लोग नरकिय जीवन। खुद करते है नालियों की सफ़ाई लोगों का जीना हुआ मुहाल।

जगह जगह लगाए लोगों ने राजनेताओ ओर बाहरी कुत्तों की नो इंटरी के पोस्टर। लोगों की माने तो बार बार स्थानीय नेताओ से मिले लेकिन कोई समाधान नही अब लोगों ने पोस्टर के ज़रिए किया रोष व्यक्त

Mubarakpur Dabas Delhi

Mubarakpur Dabas Delhi

राजधानी दिल्ली के किराड़ी विधानसभा के मुबारकपुर डबास गांव से रूबरू करवाते है जहाँ लोगो ने अपने गांव के बाहर व गलियों में नेता और बाहरी कुत्ते इस गांव में नहीं आ सकते के पोस्टर लगा रखे है

Mubarakpur Dabas Delhi

Mubarakpur Dabas Delhi

Mubarakpur Dabas Delhi

Mubarakpur Dabas Delhi



Video

ऐसा क्यों है इस गांव की हालता देख कर आप खुद ही समझ जाएगे | जो कोरोना जैसे वैश्विक महामारी में भी दे रही है इस गांव की गलियाँ अन्य बीमारियों को न्योता और प्रशासन नहीं दे रहा इस महामारी के बीच इस गांव की और कोई ध्यान ।

देश की राजधानी दिल्ली के किराड़ी विधान सभा मुबारक पुर डबास गांव की गलियां-नालिया गंदगी से अटी पड़ी है। बावजूद इसके सफ़ाई कर्मी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे, जिसके चलते लोगों में भारी रोष है। गांव के लोगो ने नेताओ के प्रति एक अलग ही रोष दिखाई दे रहा है जहाँ गांव के बाहर हर गली, चौक चोहराये पर राजनेता और बाहरी कुत्तो को आने की अनुमति नहीं के पोस्टर लगा रखे है |

लोगों की माने तो राजनेता केवल वोट के समय ही इस गांव में आते है उसके बाद यहाँ कोई नहीं आ कर देखता | आख़िर इतना रोष गांव के लोगो में क्यो है ये इस गांव की गलियाँ अपने आप बयां कर रही है ।

यहाँ कूड़े के ढेर व गलियां-नालिया गंदगी से अटी पड़ी है लोगों की माने तो गाव के लोग बीमारी की भेंट चढ़ रहे है लोग बीमार हो रहे है किसी को साँस की बीमारी है तो किसी को एलर्जी ।

जहां पूरा विश्व कोरोना वायरस से बचने के लिए साफ-सफाई रखने, एहतियात बरत रहा है तो दूसरी ओर प्रशासन सफाई व्यवस्था को लेकर जरा भी गंभीर दिखाई नहीं दे रही है |

ऐसे में गांव के लोग अपने आप ही गांव को साफ कर रहे है ओर लोगों का कहना है की राजनेता और बाहरी कुत्तो को इस गांव में आने की अनुमति नहीं है। जहाँ एक और प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान जोरो पर है वहीँ दूसरी और ये तस्वीरें आप को बता सकती है की कोरोना महामारी में भी अपना क्या रंग जमा सकती है।

जगह जगह लगे पोस्टर जीनपर साफ़ साफ़ शब्दों में लिखा है की इस गाव में राजनेताओ ओर कुत्तों का आना मना है

…..
दिल्ली के नत्थूपुरा से बख्तावरपुर जाने वाली सड़क के किनारे कई किलोमीटर लंबी सड़क बनी दलदल ।


वीडियो

हिरणकी गांव से रमजानपुर गांव तक करीब 5 से 6 किलोमीटर की दूरी तक दिल्ली जल बोर्ड की पाइप लाइन बिछाई गई थी और जिसे बाद में ढक दिया गया था लेकिन जैसे ही पहली बारिश हुई तो उस मिट्टी का जमाव नहीं किया गया था वो अंदर से दलदल बन गई।

इसमें लगातार गाड़ियां गिरने का खतरा पैदा हो चुका है । आने जाने वाले राहगीर इसमे गिर रहे हैं और बड़ा हादसा भी हो सकता है।

कई फीट गहरे गड्ढे उसमें जगह-जगह पर बन गए हैं। जहां समतल जमीन दिखाई देती है जैसे ही कोई दूसरी गाड़ी को साइड देने के लिए उस तरफ गाड़ी का टायर ले जाया जाता है तो अचानक से मिट्टी नीचे धंस जाती है। इस तरह से बड़े हादसों को दावत यह दे रही है।

दिल्ली सरकार के कामों की गुणवत्ता की पोल पहली बारिश में ही खुल गई है। मानसून में कैसे हालात होंगे इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है।

……………

बवाना से कांग्रेस के पूर्व विधायक सुरेंद्र कुमार की सरकार से बिजली के बिल माफ करने की मांग।

कांग्रेस के किराड़ी जिलाअध्यक्ष व बवाना से पूर्व विधायक सुरेंद्र कुमार ने इस मुसीबत की घड़ी में लोगों की सहायता करने की अपील सरकार से की है।

सुरेंद्र कुमार ने कहा कि पिछले 2 महीने से पूरे भारतवर्ष में लॉकडाउन था और साथ ही देश की राजधानी दिल्ली भी पूरी तरह बंद थी ।

वीडियो

हमारे यहॉं बहुत लोग ऐसे हैं जिनका जीवन व्यापन करने के लिये किराया ही एकमात्र साधन है । सरकार के कहने पर लोगों ने किराया लेना बंद कर दिया, किसी को नौकरी से नहीं निकाला और साथ ही उन्हें सैलरी भी दी ।

पर अब चाहे छोटे मोटे दुकान वाले हों, लधु उधोग वाले हों, जिम, होटल, रैस्ट्रॉं वाले हों सबका फिक्स चार्ज के नाम पर हजारों लाखों का बिल आ रहा है तो ये लोग कहॉं से देंगे । पूर्व विधायक सुरेंद्र कुमार ने कहा सरकार कृप्या इनकी सुनवाई करे

Leave a Reply