दिल्ली अस्पताल का औचक निरीक्षण

दिल्ली के सत्यवादी राजा हरिश्चन्द्र अस्पताल नरेला में आज सुबह आठ बजे अचानक दिल्ली के स्वास्थ्यमंत्री सतेंदर जैन अधिकारियों की टीम के साथ पहुंचे । अस्पताल में कई डॉक्टर ऑन ड्यूटी थे वे भी गायब मिले । अस्पताल के MS पर जमकर पड़ी झाड़ । मरीजो को बैठने तक कि व्यवस्था न मिलने पर भड़के हेल्थ मनिस्टर कहा MS अपनी कुर्सी बाहर फेंके जबतक मरीजो के बैठने की व्यवस्था न हो अधिकारी भी न बैठे बल्कि खड़े ही रहे साथ ही कुछ डॉक्टर्स ने भी खोली प्रशासन की पोल कहा कई दिन से अस्पताल में पैरासेटमोल तक खत्म है कैसे करे इलाज ।

AA News Delhi
ये है दिल्ली का सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल नरेला यहां सुबह अचानक दिल्ली के हेल्थ मनिस्टर हेल्थ के बड़े अधिकारियों के साथ पहुंच गए और साथ मे स्थानिय विधायक शरद चौहान भी थे । अस्पताल में कुछ डॉक्टर्स ऑन ड्यूटी थे पर अस्पताल में मौजुद नही थे न मरीजो के बैठने तक कि व्यवस्था थी साथ ही बेडस की चद्दर खराब थी । और भी कमिया मिली । हेल्थ मनिस्टर ने अस्पताल के MS को भी खूब झाड़ लगाई साथ ही डांटा भी । MS को हेल्थ मनिस्टर गुस्से में बोले जब मरीजो को बैठने तक कि व्यवस्था नही तो खुद की कुर्सी भी बाहर फेंके ।
हेल्थ मनिस्टर ने माना कि यहां ग्रामीण एरिया में डॉक्टर आना नही चाहते और डॉक्टर्स की कमी रहती है और डॉक्टर्स की कमी को पूरा करने का प्रयाश किया जाएगा ।
स्थानीय विधायक ने कहा अस्पताल में कई कमिया थी इसीलिए खूब मंत्री का दौरा करवाना पड़ा पर MS साहब ने इसपर कहा कुछ कमियां हैं उन्हें दूर करने का प्रयाश करेंगे ।

Narela Hospital

Narela Hospital

सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल नरेला एक सफेद हाथी बन गया है यहां इलाज नही बल्कि मरेव्ज रेफर हो होते है । यहां अल्ट्रा साउंड की मशीनें तक नही आज आश्वाशन मिला है अब पूरा होगा या नही देखने वाली बात होगी ।
।।
अनिल अत्तरी दिल्ली

Leave a Reply