संत निरंकारी मिशन की 5वीं गुरु माता सविंदर हरदेव सिंह हुई पंचतत्व में विलीन, श्रद्धालु हुए गमगीन, बुधवार को होगा अंतिम संस्कार

AA News
Nirankari Ground Delhi

रिपोर्ट :- प्रभाकर राणा
लोकेशन :- निरंकारी ग्रांउड़, दिल्ली।

संत निरंकारी मिशन की पाँचवी गुरु माता सविंदर हरदेव सिंह जी का रविवार बीती शाम स्वर्गवास हो गया। उन्होंने निरंकारी कॉलोनी स्थित अपने निवास पर अंतिम सांस ली और पंचतत्व में विलीन हो गयी। जिसके बाद उनके अनुयायियों ओर संगत पूरी तरह से गमगीन हो गयी। फिलहाल उनके पार्थिव शरीर को निरंकारी चौक के ग्राउंड न 8 में दर्शन के लिए रख गया है। जहां उनके भक्तों का आना जाना शुरू हो गया है।

सन 1929 में बाबा बूटा सिंह जी महाराज ने संत निरंकारी मिशन की स्थापना की थी। और माता सविंदर हरदेव सिंह जी निरंकारी मिशन की 5वीं मुख्य गुरु थी। जिन्होंने महाराज हरदेव जी महाराज की मई 2016 में देहावसान के बाद निरंकारी मिशन की गद्दी संभाली थी। और करीब 2 साल से ज्यादा तक वो मिशन की मुख्या रहीं। लेकिन बढ़ती उम्र और अपना स्वास्थ्य खराब होने की वजह से उन्होंने अपनी तीन बेटियों में से सबसे छोटी बेटी सुदीक्षा को बीते महीने की 17 जुलाई को मिशन की गद्दी सौंप दी थी।

Nirankari Mata Savinder Hardev Ji Maharaj

Nirankari Mata Savinder Hardev Ji Maharaj


उसके बाद से ही उनका स्वास्थ्य दिन प्रति दिन और बिगड़ता जा रहा था और आखिरकार बीते कल रविवार की शाम को अपनी देह त्याग दी और इस निराकार में समा गई। उन्होंने गुरु पद पर रहते हुए बड़ी ही बखूबी से मिशन को आगे बढ़ाया और अपनी आखिरी सांस तक वो मिशन के उद्देश्य के लिए पूरी तत्परता से लगी रही।

गुरु माता सविंदर हरदेव सिंह जी के स्वागवास के बाद से उनके सभी अनुयायियों में गम का माहौल है। और सभी अपनी गुरु माँ को अपनी नम आँखों से भावभीन श्रदांजलि अर्पित कर रहे हैं। आपको बता दें कि उनके पार्थिव शरीर को समस्त संगत के दर्शन हेतु रविवार शाम से ही निरंकारी ग्रांउड़ न.8 में रखा गया। जहाँ सोमवार, मंगलवार दो दिन लगातार उनके पार्थिव शरीर को रखा जाएगा ताकि देश विदेश से उनके अनुयायी आकर उनके अंतिम दर्शन पा सकें। उसके बाद आने वाले बुधवार की सुबह 9 बजे इनकी शव यात्रा निरंकारी ग्राउंड से निगम बोध घाट तक निकली जाएगी और करीब दोपहर 12 बजे उन्हें मुखाग्नि देकर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। मिशन के लोगो को उम्मीद है कि बाबा हरदेव सिंह जी की शव यात्रा जैसा ही जनसैलाब गुरु माता की यात्रा में भी उमड़ेगा और लाखों की सांख्य में श्रद्धालु शामिल होंगे।

संत निरंकारी मिशन की करीब विश्व के करीब दो दर्जन से ज्यादा देशों में 100 से ज्यादा शाखाएँ हैं और लाखों की संख्या में अनुयायी हैं।
वीडियो में माता जी के दर्शन करें

वीडियो
बरहाल गुरु माता के पार्थिव शरीर के दर्शन के लिए मिशन की संगत का निरंकारी ग्राउंड में आना शुरू हो गया है। और उम्मीद है कि लाखों की संख्या में इनके श्रद्धालु पहुँचेंगे और उन्हें अंतिम विदाई देंगे।

Leave a Reply