दिल्ली के मंगोलपुरी में CCTV में लाइव डंडो और लोहे की रोड़ से हमला

दिल्ली के मंगोलपुरी में CCTV में लाइव डंडो और लोहे की रोड़ से हमला

बाहरी दिल्ली के मंगोलपुरी में दो पड़ोसियों के झगड़े में जमकर चले डंडे और लोहे की रोड. लोहे की रोड और डंडे मारते सब CCTV में हुए कैद. घटना दो दिन पहले तीन दिसम्बर की. पुलिस ने आपसी झगड़े का मुकदमा दोनों पक्षों पर दर्ज किया. फिलहाल दोनों पक्ष के लोग अस्पताल में भर्ती. एक परिवार का आरोप है की उनके उपर रोड और डंडे से हमला हुआ जिसकी CCTV भी है इसके बावजूद पुलिस ने उस पक्ष के दो लोगो की गिरफ्तार किया दुसरे पक्ष का मुख्य आरोपी को अभी तक गिरफ्तार नही किया पर मुख्य आरोपी भी एक निजी अस्पताल में भर्ती है जिसकी वजह से जब तक डिस्चार्ज न हो तब तक गिरफ्तारी सम्भव नही.

CCTV in this Video

cctv इस Video में  देखे
डबल ए न्यूज़ : मामला बाहरी दिल्ली के मंगोलपुरी थाना एरिया का है जहा दो परिवारों के घर आमने सामने है. तीन दिसम्बर को इन दोनों परिवारों में झगड़ा हुआ देखिये कैसे एक दुसरे पर डंडो से हमला हो रहा है पहले शख्स ने डंडा मारा तो तभी एक शख्स देखिये लोहे की रोड लाया है और लोहे की रोड से हमला किया है. एक शख्स जमीन पर गिर गया सिर फटा है और दुसरा उसके सिर पर कपड़ा बाँध रहा है. ये झगड़ा हो रहा है दिल्ली के मंगोलपुरी में यहा दो पड़ोसी जिनके घर आमने सामने है दोनों में झगड़ा हो रहा है. दोनों परिवारों में झगड़ा पहले से चल रहा है. दरअसल तय्यब के परिवार का आरोप है की राजेश के घर में एग्जिट फैन लगा है और ये लोग मोमोज बनाते थे जिसकी शिकायत की और कोर्ट के माध्यम से राजेश के मोमोज का काम बंद हो गया क्योकि एग्जिट फैन से मिर्च और पावडर का धुंआ तय्यब के घर में आता तय्यब की माता जी का ओपरेशन हुआ था जिसकी उस मिर्ची के धुएं से परेशानी होती थी इस कारण तय्यब ने शिकायत करके राजेश का मोमोज का काम बंद करवा दिया इसके बाद दोनों पड़ोसियों में आपस में खींचतान थी और तीन दिसम्बर को दोनों में मामूली कहासुनी के बाद जो हुआ वो इस cctv में कैद है . डबल न्यूज़ के माध्यम से तय्यब के परिवार ने कई आरोप लगाये . तय्यब पक्ष का आरोप है हमला रोड और डंडो से हुआ है जिसके सबूत ये विडियो है साथ ही आरोप है कि इनके परिवार की आँखों में साथ दुसरे परिवार की महिलाओ ने मिर्ची पाउडर डाल दिया.
रोड लगने के बाद तय्यब का सिर फट गया है उसे संजय गांधी अस्पताल से सफदरजंग अस्पताल में रेफर किया गया है . इस परिवार का पुलिस पर भी आरोप है कि पुलिस दुसरे परिवार का पक्ष ले रही है. एक तरफ के लोगो की गिरफ्तारी हो गई पर दूसरी तरफ का मुख्य आरोपी पुलिस ने गिरफ्तार नही किया. दरअसल राजेश नाम का मुख्य आरोपी भी घायल अवस्था में एक निजी अस्पताल में भर्ती है जब तक अस्पताल से बाहर न आये तो गिरफ्तारी सम्भव नही. फिलहाल पुलिस मामला दर्ज कर जांच में जुटी है.

Leave a Reply