पाकिस्तान में अब महक केसवानी नाम की लड़की का करवाया गया धर्म परिवर्तन

AA News
New Delhi
पाकिस्तान में अब महक केसवानी नाम की लड़की का करवाया गया धर्म परिवर्तन
मनजिंदर सिंह सिरसा द्वारा अल्पसंख्यकों को भारत में शरण देने की अपील

नई दिल्ली, 27 दिसंबरः पाकिस्तान में सिख और हिन्दू लड़कियों को अगवा कर उनका धर्म परिवर्तन करवाने का क्रम जारी है और अब ताजा मामले में महक केसवानी पुत्री अमर लाल केसवानी नाम की लड़की का धर्म परिवर्तन करवा गया है। यह खुलासा दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने किया है।
यहां जारी किए एक बयान में श्री सिरसा ने बताया कि ताजा मामले में महक नाम की लड़की का नाम बदल कर महक फातिमा रख दिया गया है और मुहम्मद अशर नाम के मुस्लिम व्यक्ति के साथ उसका विवाह करवा दिया गया। उन्होंने बताया कि जगजीत कौर व अन्य बाकी केसों की तरह यह भी पहले अगवा की गई फिर ज़बरन धर्म परिवर्तन किया गया और फिर मुस्लिम लड़के मुहम्मद अशर से निकाह करवा दिया गया।
उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी सियासदां मीयां जावेद ने इसका विवाह करवाया है। पाकिस्तान में मीयां मिठ्ठु नाम का ऐसा व्यक्ति है जो कि ऐसे मामलों में धर्म परिवर्तन करवाने और निकाह करवाने के लिए मशहूर है। उसने पहले भी बहुत सारे केसों में धर्म परिवर्तन कर कर ऐसे निकहा करवाये हैं। श्री सिरसा ने कहा कि लड़की के पिता अमर लाल केसवानी अपनी लड़की के मामले में इन्साफ हासिल करने के लिए सड़कों पर रोष मुज़ाहिर कर रहा है पर कोई सुनवाई नहीं हो रही।
श्री सिरसा ने कहा कि पाकिस्तान में हर साल सिंध से 1000 लड़कियों का ज़बरन धर्म परिवर्तन करवाया जाता है क्योंकि वह देश में अल्पसंख्यक और हिन्दू भाईचारे से संबंधित लड़कियां हैं। इन लड़कियों के साथ अत्याचार इसलिए हो रहा है क्योंकि वह अल्पसंख्यक समुदाय से संबंधित हैं। पाकिस्तान, अफगानिस्तान व बांग्लादेश में रहने वाले अल्पसंख्यकों के पास भारत में आकर बसने के अलावा और कोई चारा बाकी नहीं रह गया जहां वह जाकर शरण ले सकें।
श्री सिरसा ने भारत सरकार को अपील कर कहा कि ऐसे परिवारों को यहां शरण दी जाये और नागरिकता प्रदान की जाये तांकि अल्पसंख्यक अपनी बेटियों और परिवारों की रक्षा कर सकें। उन्होंने कहा कि क्योंकि भारत अल्पसंख्यकों का मुख्य देश है इसलिए हमारा फर्ज बनता है कि इन तीन मुल्कों में रहने वाले अल्पसंख्यक परिवारों के लिए जल्दी से जल्दी अहम प्रयास किये जायें।

Dsgmc

Manjinder Singh Sirsa (president DSGMC)


दिल्ली कमेटी अध्यक्ष ने आगे कहा कि जितनी तेज़ी से पिछले दिनों अल्पसंख्यकों की बेटियों को अगवा कर, ज़बरन धर्म परिवर्तन कर और मुस्लिम लड़कों से निकाह पढ़वाने की घटनाएं हो रही हैं उसे देखते हुए उन्हें डर है कि जो बाकी के परिवार वहां रह गये हैं उनके साथ और अधिक जुल्म होने की संभावना है। इसलिए समय रहते भारत सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए।

Leave a Reply