05 फरवरी 2018-अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति हरियाणा की प्रदेष कार्यकारिणी द्वारा-15 फरवरी 2018 को भाईचारा न्याय यात्रा-जीन्द का ऐलान

05 फरवरी 2018-अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति हरियाणा की प्रदेष कार्यकारिणी द्वारा-15 फरवरी 2018 को भाईचारा न्याय यात्रा-जीन्द का ऐलान
AA News
अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति द्वारा आज जीन्द में भविष्य की आन्दोलन की रणनीति पर चर्चा करने के लिये प्रदेष कार्यकारिणी की बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि 15 फरवरी 2018 को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का जीन्द में कार्यक्रम है। इस अवसर पर जाट समाज अपने साथ रहने वाली 36 विरादरी को साथ लेकर अपने सवालों व पूर्व में हुऐ समझौते को लागू न करने पर 15 फरवरी 2018 को हरियाणा की 36 बिरादरी को साथ लेकर जीन्द चलने का आवाहन करते हुऐ 15 फरवरी 2018 को “भाईचारा न्याय यात्रा” की घोषणा करता है। जिसमें भाईचारा न्याय यात्रा-15 फरवरी 2018 को जीन्द पहुँचकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह सेे हरियाणा की जनता के साथ की गई धोखाधड़ी का जवाब लेगा और हरियाणा के मुख्यमन्त्री श्री मनोहर लाल खट्टर का हरियाणा की जनता के साथ धोखाधड़ी से अवगत करायेगा, जो निम्न माँगों व समझौते की शर्तों का सरकार द्वारा उल्लंघन है-
29 जनवरी से 19 मार्च 2017 तक 50 दिन चले आन्दोलन के बाद 19 मार्च 2017 को हरियाणा के मुख्यमन्त्री श्री मनोहर लाल खट्टरके साथ केन्द्रीय प्रतिनिधि केन्द्रीय मंत्री चौ. बिरेन्द्र सिंह व केन्द्रीय राज्य मंत्री श्री पी.पी.चौधरी के समक्ष हरियाणा के मुख्यमन्त्री के साथ 6 माँगों पर सहमति बनी थी। हरियाणा सरकार द्वारा माँगों को पूरा करने में देरी करने पर पुनः 17 अगस्त 2017 को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह के निवास पर मुख्यमन्त्री श्री मनोहर लाल खट्टर, चौ. बिरेन्द्र सिंह, श्री पी.पी. चौधरी, डा. संजीव बालियान, हरियाणा प्रभारी श्री अनिल जैन की उपस्थिति में संघर्ष समिति के प्रतिनिधिमण्डल ने हरियाणा सरकार की समझौते को लागू करने में हो रही देरी पर अपनी आपत्ति दर्ज करायी थी, जिस पर हरियाणा के मुख्यमन्त्री द्वारा सभी की मौजूदगी में यह विष्वास दिलाया था कि जल्द ही समझौते की हरियाणा सरकार से सम्बन्धित सभी माँगों को पूरा कर दिया जायेगा। लेकिन उसके बाद से आज तक सरकार द्वारा माँगों को पूरा करने की दिषा में एक भी कदम नहीं उठाया है।
Jat Arkshan Sanghrsh Samiti

Jat Arkshan Sanghrsh Samiti

अतः हरियाणा का जाट समाज भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह व हरियाणा के मुख्यमन्त्री श्री मनोहर लाल खट्टर के साथ समझौते के दौरान उपस्थित मन्त्रियों से निम्न सवालों के जवाब चाहता है। 15 फरवरी 2018 की भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह की जीन्द रैली से पहले हरियाणा की जनता की माँगों पर हरियाणा सरकार व श्री अमित शाह निम्न सवालों का जवाब जाट समाज को दें।
1. 19 मार्च 2017 को हुऐ हरियाणा सरकार से सम्बन्धित सभी माँगें (जिसमें हरियाणा में प्रदेष स्तर पर आरक्षण, मुकदमों की वापसी के साथ साथ धरनों पर शहादत देने वालों के आश्रितों को नौकरी देने से सम्बन्धित माँगें हैं) कब तक पूरी होंगी ।
2. केन्द्र के लिये लोकसभा में राष्ट्रीय सामाजिक व शैक्षणिक पिछड़ा वर्ग आयोग बिल कब तक पास हो जायेगा। उसके बाद जाट समाज को कितने दिनों में केन्द्र में आरक्षण मिल जायेगा।
3. हरियाणा सरकार में कैप्टन अभिमन्यु पर अपने निजि हितों के लिये सरकारी पदों का दुरूपयोग करने पर कब तक लगाम लगायी जायेगी।
4. भाजपा के प्रदेष अध्यक्ष श्री सुभाष बराला व अन्य भाजपा नेताओं द्वारा संघर्ष समिति की रैली पर हमला कराने के आरोपियों को संरक्षण देने के मामले की जाँच कब करायी जायेगी।
5. हरियाणा में भाईचारा तोड़ने वाले अपनी ही पार्टी के सांसदों व कार्यकर्ताओं पर भाजपा लगाम कब लगायेगी।
उपरोक्त सवालों का सही जवाब लेने के लिये हरियाणा प्रदेष के जाट भाई व अन्य सभी जातियों के लोगों को लेकर 15 फरवरी 2018 को जीन्द में “भाईचारा न्याय यात्रा” (ट्रैक्टर-ट्रॉलियों द्वारा) आयोजित कर अपने सवालों पर हरियाणा सरकार व भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह से उपरोक्त सवालों का जवाब चाहेंगे।आषा है कि 15 फरवरी 2018 से पहले हरियाणा सरकार हरियाणा की जनता को अपनी वायदाखिलाफी का कारण बताये।

Leave a Reply