मनजिंदर सिंह सिरसा ने महाराजा रणजीत सिंह के बारे में अपशब्द बोलने वाले पाक के पूर्व रेल मंत्री के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

AA NEWS

DELHI

REPORT – TEAM AA NEWS

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष व शिरोमणी अकाली दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता स. मनजिंदर सिंह सिरसा ने पाकिस्तान के पूर्व रेल मंत्री व एम.पी ख्वाजा सईद रफीकी द्वारा महाराजा रणजीत सिंह के बारे में अपशब्द बोलने पर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

 

Dsgmc

Manjinder Singh Sirsa (president DSGMC)

 

 

यहां जारी किए एक बयान में श्री सिरसा ने कहा कि ख्वाजा सईद रफीकी ने महाराजा रणजीत के बारे में बहुत ही कड़वे बोल बोले हैं और उन्हें जबरन सिख धर्म लागू करवाने वाला कहा है जबकि असलीयत यह है कि महाराजा रणजीत सिंह दुनिया के ऐसे शासक थे जिन्होंने अपने राजकाल में सभी धर्मों को साथ लेकर कार्य किया।

 

 

 

 

स. सिरसा ने कहा कि महाराजा रणजीत सिंह के राजकाल के दौरान अगर गुरुद्वारा साहिबान को सोना दिया जाता था तो मंदिरों व मस्जिदों को भी बराबर सोना दिया जाता था। उन्होंने कहा कि महाराजा रणजीत सिंह एक धर्म निरपेक्ष शासक थे जिनके अच्छे राजकाल के चलते ही उन्हें शेर-ए-पंजाब के खिताब से नवाजा गया।

 

 

 

 

 

 

 

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के नेता ने बहुत ही तुच्छ व घटिया शब्दों का इस्तेमाल महाराजा रणजीत सिंह के खिलाफ सिर्फ इसलिए किया है तांकि अपने धर्म के लोगों को खुश किया जा सके। ऐसे लोग दूसरे धर्मों पर हमला कर अपने धर्म के नेताओं को खुश करना चाहते हैं उन्होंने कहा कि ख्वाजा सईद रफीकी के इस गुनाह ने दुनिया भर में सिखों व अमन पसंद लोगों के दिलों को चोट पहुँचाई है।

 

 

 

 

 

 

स. सिरसा ने भारत के विदेश मंत्री डाॅ. एस जयशंकर को अपील कर कहा कि वह पाकिस्तान के समक्ष इस मामले को उठा कर ख्वाजा के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करवायें। उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को भी अपील कर कहा कि एक महान शासक के खिलाफ ज़हर उगलने वाले इस नेता के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाये।

Leave a Reply