दिल्ली में यमुना का जलस्तर मानसून में बढ़ा : हथिनी कुंड बैराज से छोड़ा गया एक लाख क्युशिक पानी आना शुरू

Video में उपर दिल्ली यमुना देखें और लाल बटन पर दबाकर SUbscribe करें

दिल्ली में यमुना का जलस्तर मानसून में बढ़ा : हथिनी कुंड बैराज से छोड़ा गया एक लाख क्युशिक पानी आना शुरू
रिपोर्ट -अनिल अत्री
AA News
दिल्ली यमुना में जलस्तर बढने से दिल्ली में यमुना किनारे खेती करने वाले किसान अपने होने वाले नुकशान को लेकर डरे हुए है . किसानो को इसकी जानकारी मीडिया से मिली की हथिनी कुंड बैराज से एक लाख क्यूसिक पानी छोड़ा गया है. दिल्ली में यमुना किनारे सब्जियों की फसल में पानी बढने लगा है और कल तक ये पानी बढ़ा तो फसल का नष्ट होना लाजमी है . जो सब्जिया छोटी और अभी कच्ची है पूरी तरह तैयार नही उसे भी किसान तोड़ रहे है क्योकि पानी चढा तो वो फसल भी डूब जायेगी . अभी तक पानी खेती से दूर है पर आशंका है अगले एक दो दिन में और पानी छोड़ा गया तो फसल डूबना लाजमी है. AA News ने पल्ला झंगोला एरिया में ठोकर नम्बर सात के आसपास किसानो से बातचीत की.
दिल्ली के पल्ला , झंगोला , बुराड़ी , जगतपुर एरिया में यमुना में पानी के किनारे बड़े स्तर पर खेती की जाती है पर हर साल यहाँ इन दिनों में किसानो की फसल नष्ट हो जाती है. किसानो को शिकायत है कि इस तरह से अचानक पानी आने की जानकारी उनेह मीडिया से मिलती है सरकारी तन्त्र उन्हें कोई सूचना नही देता साथ ही इनकी फसल नष्ट हो जाती है. यहा किसानो ने बताया की बड़े स्तर पर फसल पानी में तबाह होती है उससे पहले सरकार को सर्वे कर लेना चाहिए और गरीब किसानो को मुआवजा देना चाहिए ..
फिलहाल किसान होने वाले नुकशान को लेकर चिंतित है और सरकार से इन्हें कोई आस भी नही है क्योकि ये नुकशान इनकी हर साल की नियति बन चुका है और इन्हें आज तक कभी भी इस नुकशान का मुआवजा नही मिला है .
अनिल अत्तरी दिल्ली

Leave a Reply