दिल्ली के कापसहेड़ा की सड़कों में गूंजा ” बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ ” का नारा।

AA NEWS

NEW DELHI

दिल्ली के कापसहेड़ा स्थित फेयर फील्ड इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी द्वारा आज लगभग 2 से 3 हज़ार बच्चों ने FIMT कॉलेज से लेकर कापसहेड़ा बॉर्डर तक पैदल मार्च किया । कॉलेज के प्रबंधकों व बच्चों का एक ही नारा था ।

Delhi kapasheda

Delhi kapasheda

” बेटी बचाओ – बेटी पढ़ाओ “।
कापसहेड़ा की सड़कों पर बच्चों का ये नारा बेटी बचाओ – बेटी पढ़ाओ हर ओर गूंज रहा था।
इसके अलावा बच्चो ने मुख्य चौक पर भी लोगो को जगाने के लिए नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया , जिससे लोग बेटियों के प्रति जागरूक हो सके। सुबह 10 बजे शुरू हुई ये रैली इलाके के विभिन्न क्षेत्रों से होती हुई 1 बजे वापस FIMT कालेज पहुँची।

Delhi kapaaheda

Delhi kapaaheda

इस रैली का नेतृतव कॉलेज के चेयरमैन विजय कुमार नांगलिया भारद्वाज, डॉक्टर सरोज व्यास ( डीन ) के नेतृत्व में सम्पन्न हुआ। इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में कापसहेड़ा के SHO अनिल मालिक, डॉ. गणेश राव, डॉ शिवदीप , डॉ लाला साहेब, डॉ धनश्याम व्यास, आशुतोष शर्मा, दीपा,प्रणेता, मणि आर्य व संस्था के अन्य विशेष गण उपस्थिस्त थे।

इस कार्यमर्म को बेटी बचाओ जन आंदोलन व सामाजिक क्रांति के रूप में भी देखा जा रहा है। समाज मे बेटियों की घटती संख्या को बढ़ाने के लिए ” बेटी के जन्म का स्वागत ” यह संकल्प पूना के डॉक्टर गणेश राव ने 9 साल पहले ये शुभ कार्य शुरू किया था और आज पूरे विश्व मे 2 लाख से ज्यादा डॉक्टर्स , 13 हज़ार सामाजिक संस्था और 20 लाख से जायदा स्वयंसेवक इसमें शामिल है।

 

डॉक्टर गणेश राव ने साक्षात्कार के दौरान हमे बताया कि वो पिछले 9 वर्षों से बेटी बचाओ कार्यक्रम में अपनी अहम भूमिका निभा रहे हैं और पूना स्थित अपने हॉस्पिटल में अगर किसी भी बच्ची का जन्म होता है वो अपने हॉस्पिटल का कोई भी खर्चा परिवार वालो से नही लेते है। साथ ही अस्पताल में ही बच्ची का जन्मदिन काफी धूमधाम से मनाते है।

वही फेयर फील्ड इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी की डीन डॉ सरोज व्यास का कहना है बेटियां शिक्षित होगी तभी देश का भविष्य उज्ज्वल होगा। बेटी है तो कल है।


Video

डॉ व्यास का कहना है बेटियों के लिए वो आगे भी ऐसे ही जागरूक कार्यक्रमो का आयोजन करती रहेगी

Leave a Reply