अलीपुर में ड्राइवर की हत्या कर लूटी थी ओला कैब

AA News
अलीपुर, नई दिल्ली

हत्या और लूटपाट करने वाला गिरोह गिरफ्तार। अलीपुर थाना पुलिस ने किया गिरफ्तार। पांच लूटेरे पकड़े साथ एक इनका एक नाबालिग साथी भी हिरासत में । अलीपुर एरिया में कैब चालक की हत्या कर लूटी थी कैब और मात्र 25 हजार में शराब माफियाओं को बेच दी कैब और जिसमे 17 हजार के चार देशी कट्टे खरीदकर लाये थे ये लूटेरे ।

रोहिणी जिले के अलीपुर इलाके में कैब चालक की हत्या के मामले को पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है। पुलिस ने एक नाबालिग समेत छह लोगों को पकड़ा है। बदमाशों के पास से कैब और तीन देशी कट्टे मिले हैं। पकड़े गये बदमाशों ने खुलासा किया है कि लूटपाट का विरोध करने पर उनलोगों ने कैब चालक की हत्या कर दी थी। रोहिणी जिले के डीसीपी रजनीश गुप्ता के अनुसार गत 23 मार्च को खामपुर के जंगल में 35 वर्षीय युवक का शव मिला। उसकी गला घोंटकर हत्या की गयी थी। युवक के पहने शर्ट के स्टीकर से 25 मार्च को शव की पहचान सेक्टर 45 नोएडा के छलेरा गांव निवासी हरि नारायण के रूप में हुई। वह ओला कैब चलाता था। पुलिस को उसकी कैब नहीं मिली। पुलिस ने लूटपाट व हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू की।

Alipur Delhi 110036

Alipur Delhi 110036

अलीपुर एसएसओ सुरेश कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम ने ओला कंपनी की मदद से कैब में लगे जीपीएस के लोकेशन की जांच की। पता चला कि कार की लोकेशन नरेला, बांकनेर, सोनीपत के गांव नाहरी और खेरी मंजात में आ रही है। कार की अंतिम लोकेशन नाहरी गांव में आ रही थी। पुलिस ने उस पर निगरानी रखनी शुरू कर दी। इसी बीच पुलिस को पता चला कि बदमाश कार को लेकर नरेला के स्मृति वन के पास आ रहे हैं।
पुलिस की टीम ने घेराबंदी कर कार में सवार लामपुर निवासी राहुल सैनी (21), बांकनेर निवासी नईमुद्दीन (22) और नाहरी, सोनीपत निवासी हेमंत (19) को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से तीन देशी कट्टे और छह कारतूस बरामद हुए। पकड़े गये बदमाशों ने वारदात में शामिल दो अन्य बदमाश नाहरी, सोनीपत निवासी अमित (25) और विशाल (20) समेत 17 वर्षीय एक नाबालिग के नामों का खुलासा किया। पुलिस ने तीनों के घर पर दबिश देकर उन्हें दबोच लिया।

पूछताछ में बदमाशों ने बताया कि सभी बेरोजगार हैं और उन्हें रुपये की जरूरत थी। इसलिए उन लोगों ने गैंग बनाकर लूटपाट करने की योजना बनायी। उन लोगों ने मुरादाबाद से तीन देशी कट्टे का इंतजाम किया। 23 मार्च को राहुल ने अपने फोन से कश्मीरी गेट इलाके से कैब बुक की। टिकरी गांव के पास सुनसान जगह पर गैंग के सदस्यों ने चालक को काबू करने का प्रयास किया। लेकिन चालक के विरोध करने पर बदमाशों ने गमछे से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी और शव को खामपुर के जंगल में फेंककर फरार हो गये थे । फिलहाल ये लूटेरे सलाखों के पीछे हैं ।

Leave a Reply