दिल्ली में दिन दहाड़े होते रहे मर्डर और लूट

AA News
आदर्श नगर

मंगलवार को दिल्ली लूट की वारदातों से दहल उठी। नॉर्थ वेस्ट और रोहिणी जिले में दो जगह ज्वेलर्स के शोरूम में लूट की वारदात को अंजाम दिया गया। दोनों ही जगह लुटेरे तीन की संख्या में थे । नॉर्थ वेस्ट दिल्ली के आदर्श नगर में लुटेरों ने लूट कर जाते हुए ज्वेलरी शोरूम के मालिक को गोली भी मार दी जिसकी अस्पताल ले जाने पर मौत हो गई। लुटेरे बेखौफ होकर लूट को अंजाम देकर चलते बने फिलहाल दोनों ही मामलों में लुटेरों की पहचान नहीं हो पाई है । दिल्ली पुलिस इन लुटेरों की तलाश में जुटी है ।

दिल्ली आजकल लुटेरों के निशाने पर है लोगों का माल तो छोड़िए जान भी सेफ नहीं है। खासकर नॉर्थ वेस्ट दिल्ली में पिछले कुछ महीनों से जब से नई डीसीपी ने चार्ज संभाला है उसके बाद लगातार लूट की वारदातें ज्वेलर्स के साथ हो रही है और खास बात यह है कि दिल्ली पुलिस की ये अधिकारी ज्वेलर्स के साथ हुई बड़ी बड़ी लूट को सॉल्व नहीं कर पाई है। पिछले दिनों दिनदहाड़े नत्थूपुरा में ज्वेलर्स के यहां लूट को अंजाम दिया गया जिसे नॉर्थ-वेस्ट जिला पुलिस नहीं सॉल्व कर पाई। इसके बाद शालीमार बाग में लुटेरों ने ज्वेलर्स को लूट का शिकार बनाया। दिल्ली पुलिस उसको भी हल नहीं कर पाई। आज इसी जिले के आदर्श नगर एरिया में फिर एक ज्वेलर्स के यहां तीन लुटेरे पहुंचे लुटेरों के हाथों में हथियार थे और शोरूम में सोने के घने लुटे . मालिक हेमंत कौशल ने लूटेरो को पकड़ने की कोशिश की पर लुटेरों ने मालिक चालीस साल के हेमंत कौशल को गोली मार दी . हेमंत कौशल की अस्पताल ले जाने पर मौत हो गई और लूट कितनी ज्वेलरी और कैश की हुई है यह भी साफ नहीं हो पाया है, क्योंकि मालिक की मौत गोली लगने से हो गई है।

Adrsh Nagar & Rohini Jewellers

Adrsh Nagar & Rohini Jewellers


रोहिणी सेक्टर 8 में कल्याण ज्वेलर्स में तीन लोग ग्राहक बनकर आए। इन तीनों ग्राहकों ने सामान भी खरीदा और जैसे ही एक कर्मचारी अंदर कैबिन की तरफ जाने लगा तो लुटेरे ने उसको गन लगा दी साथ ही दूसरे दो कर्मचारियों को भी गन प्वाइंट पर काबू में कर लिया। इन लुटेरों ने गहने और कैश मौके से लूट लिया जिसकी कीमत करीब 28 से 30 लाख बताई जा रही है। इसके बाद लुटेरे कल्याण ज्वेलर्स में लगा सीसीटीवी कैमरे का डीवीआर भी साथ ही ले गए। दुकान से यह लुटेरे पैदल ही निकले हैं आगे किस गाड़ी से फरार हुए यह अभी तक पता नहीं चल पाया है।

दोनों ही जिलों में हुई लूट की वारदात हल नहीं हो पाई है और ना ही लुटेरों की पहचान हो पाई है। कहीं ना कहीं दिल्ली पुलिस पर बड़े सवाल खड़े होते हैं जरूरत है दिल्ली पुलिस ऐसे लुटेरों के प्रति सख्त रवैया अपनाए तभी जाकर इस तरह के मामले कम हो सकते हैं। पुराने मामलों को देखकर साफ नजर आ रहा है कि दिल्ली पुलिस FIR दर्ज कर आराम से बैठ जाती है उन मामलों की तह तक नहीं जाती फिलहाल देखने वाली बात होगी कि इन मामलों को भी पुलिस ठंडे बस्ते में डाल कर छोड़ देगी या कुछ जांच भी करेगी। फिलहाल नार्थ-वेस्ट जिला डीसीपी ने इस मामले पर बोलना तो दूर मीडिया के फोन भी नही उठाये ।

Leave a Reply